×

China-Taiwan Tension: क्या चीन की विशाल ताकत के सामने टिक पायेगा ताइवान, जानें दोनों देशों की सैन्य क्षमता

China Taiwan Tension: अमेरिका के निचले सदन की स्पीकर नैंसी पेलोसी के दौरे के बाद से ताइवान और चीन के बीच संकट और गहराया। दोनों देशों के बीच दशकों से जारी तनाव अब चरम पर नजर आ रहा है।

Krishna Chaudhary
Updated on: 3 Aug 2022 10:50 AM GMT
China-Tiwan Tension
X

China-Tiwan Tension Military Compare (image social media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

China-Tiwan Tension: अमेरिका के निचले सदन की स्पीकर नैंसी पेलोसी के दौरे के बाद से ताइवान और चीन के बीच संकट और गहरा गया है। दोनों देशों के बीच दशकों से जारी तनाव अब चरम पर नजर आ रहा है। ड्रैगन ताइवान की सीमा के पास अपने जंगी जहाजों और युद्ध पोतों को पहले ही भेज चुका है। ऐसे में ताइवान की खाड़ी में युद्ध का संकट मंडराने लगा है। कुछ लोग मान रहे हैं कि यूरोप में जारी रूस - यूक्रेन संकट की तरह एशिया में भी ऐसी स्थिति उत्पन्न हो सकती है। उधर, ताइवान भी जोर शोर से अपनी सैन्य तैयारियों को पुख्ता करने में जुट गया है।

2.30 करोड़ की आबादी वाले इस देश के आम लोग भी हथियार चलाने की ट्रेनिंग ले रहे हैं। दरअसल ताइवान सरकार और वहां के नागरिक रूस द्वारा यूक्रेन पर हमला किए जाने के बाद से ही अधिक चौंकन्ने हो गए हैं। ताइवान ऐसे लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है, जो हथियार चलाने की ट्रेनिंग ले रहे हैं। नैंसी पेलोसी के दौरे के बाद हालात काफी विस्फोटक हो गए हैं। महज एक चोटी सी चिंगारी किसी बड़े संघर्ष का रूप ले सकती है। चीन ताइवान पर दवाब बनाने के लिए उसकी सीमा के आसपास बड़े सैन्याभ्यास करने की तैयारी कर रहा है। तो आइए युद्ध की आशंका के बीच दोनों देशों की सैन्य ताकत को टटोलने की कोशिश करते हैं।

दोनों देश की सेना क्षमता

चीन ताइवान

सक्रिय सैनिक - 20 लाख 1.7 लाख

रिजर्व सैनिक - 5.10 लाख 15 लाख

फायटर प्लेन - 1200 288

हेलीकॉप्टर - 912 208

अटैक हेलीकॉप्टर – 281 91

टैंक - 5250 1100

बख्तरबंद गाड़ियां – 35,000 3472

स्वचालित तोपखाना – 4120 257

सबमरीन - 79 4

एयरपोर्ट - 507 37

चीन और ताइवान की तुलना

चीन दुनिया का चौथा सबसे बड़ देश है। इसका क्षेत्रफल 96 लाख वर्ग किलोमीटर है। वहीं ताइवान की गिनती दुनिया के सबसे छोटे देशों में होती है। इसका क्षेत्रफल महज 36,197 वर्ग किलोमीटर है। चीन जीडीपी के मामले में भी ताइवान से कहीं आगे है। चीन दुनिया की दूसरी और एशिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। जबकि ताइवान की अर्थव्यवस्था एशिया की सातवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन की जीडीपी का साइज 13.6 ट्रिलियन डॉलर है। वहीं ताइवान की जीडीपी का साइज महज 585.8 बिलियन डॉलर है।

हालांकि, कुछ मामले ऐसे भी हैं जिनमें ताइवान चीन पर भारी है। चीन की प्रति व्यक्ति जीडीपी 9.8 हजार डॉलर के करीब है। वहीं ताइवान के मामले में यह आंकड़ा 25 हजार डॉलर हो जाता है। इसके अलावा ताइवान में चीन के मुकाबले बेरोजगारी और महंगाई कम है। चीन में बेरोजगारी दर 4.4 प्रतिशत और महंगाई दर 2.1 फीसदी है। वहीं ताइवान में महंगाई दर 1.5 फीसदी और बेरोजगारी दर 3.7 फीसदी है।

चीन ने ताइवान पर लगाए आर्थिक प्रतिबंध

अमेरिकी स्पीकर के दौरे से बौखलाए चीन ने ताइवान के खिलाफ आर्थिक युद्ध छेड़ दी है। चीन ने आनन-फानन में ताइवान को निर्यात किए जाने वाले प्राकृतिक रेत पर रोक लगा दी है। इससे ताइवान के कंस्ट्रक्शन सेक्टर पर नकारात्मक असर पड़ना तय है। ड्रैगन से इससे पहले 1 जुलाई से ताइवान के 100 से अधिक फूड सप्लायरों से आयात पर प्रतिबंध लगा चुका है।

Prashant Dixit

Prashant Dixit

Next Story