चीनी सेना को ये दिग्गज कर रहे तैयार, LAC पर भारत से जंग के बताए तरीके

लद्दाख सीमा विवाद को लेकर चीनी सैन्य रणनीतिकारों ने भारत के खिलाफ तैयार रहने की चेतावनी दी हैं। चीनी सेना के रिटायर्ड अफसरों ने मदद करने की पहल की है।

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा विवाद को लेकर चीनी सैन्य रणनीतिकारों ने भारत के खिलाफ तैयार रहने की चेतावनी दी हैं। उन्होंने ये भी संभावना जताई कि दोनों देशों के बीच सीमा विवाद से परमाणु शक्तियों के साथ सशस्त्र संघर्ष की बढ़ोतरी हो सकती हैं।

दरअसल, 15 जून को लद्दाख के गलवान वैली में भारत और चीन के सैनिकों के बीच झड़प हो गयी थी। इसमें भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए। दोनों देशों के बीच विवाद बढ़ गया और आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया।

सीमा पर हाई-टेक हथियारों की तैनाती:

इस मामले में चीनी सेना के कई रिटायर्ड अफसरों ने इंडियन आर्मी को जवाब देने के लिए तैयारी शुरू कर दी। इसमें गैर घातक हाई-टेक हथियार आदि की सीमा पर तैनाती की जा रही है।

चीनी रिटायर्ड आर्मी अफसरों की भारत के खिलाफ तैयारी

वहीं चीनी सेना के कई रिटायर्ड अफसरों ने युद्ध की स्थिति के लिए चीन की मदद करने की पहल की है। इसके लिए लद्दाख सीमा पर चीनी सैनिकों को ज्यादा सशक्त बनाने की तैयारी की गयी। वहीं वायु सेना के एक रिटायर्ड जनरल ने दोनों देशों के बीच सशस्त्र संघर्ष होने की संभावना बताते हुए तैयार रहने को कहा।

ये भी पढ़ेंःचीन से मेलजोल बढ़ा रहा नेपाल, ड्रैगन संग दूसरा बॉर्डर पॉइंट जल्द खोलने की तैयारी

भारत की हर कार्रवाई का तुरंत देना चाहिए जवाब

नौसैनिक विशेषज्ञ और रिटायर्ड पीएलए नौसेना अधिकारी ने सीमावर्ती सैनिकों के सहयोग के लिए बीजिंग को सेना बढ़ाने की सलाह दी ताकि भारत के घुसपैठ करने की स्थिति को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि हमे सीमा क्षेत्रों की अधिक निगरानी की जरूरत है। वहीं LAC पर भारत की हर कार्रवाई का तुरंत जवाब देने की सलाह दी।

चीनी सैनिकों को आंसू गैस के गोले रखने की सलाह

चीनी रिटायर्ड अफसर ने चीन सेना को मजबूत करने और भारत के खिलाफ तैयार रहने के लिए सीमा पर भारत की सुविधाओं और उपकरणों को नष्ट करने और अधिक शक्तिशाली उपायों का उपयोग करने को कहा। वहीं सीमा पर गैर-घातक हथियारों जैसे आंसू गैस और अचेत हथगोले के साथ चीनी सैनिकों को तैनात रहने की भी सलाह दी।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।