व्हाइट हाउस में चलता है इस इस लेडी का सिक्का, राष्ट्रपति ट्रंप से ऐसा है कनेक्शन

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने खानपान और लाइफस्टाइल को लेकर अक्सर चर्चा में रहते हैं। ट्रंप की भारत यात्रा से पहले भारतीय मीडिया में उनके लिए तैयार किए गए व्यंजनों के बारे में खूब खबरें प्रकाशित हुईं।

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने खानपान और लाइफस्टाइल को लेकर अक्सर चर्चा में रहते हैं। ट्रंप की भारत यात्रा से पहले भारतीय मीडिया में उनके लिए तैयार किए गए व्यंजनों के बारे में खूब खबरें प्रकाशित हुईं। जो देश के अंदर बहस का मुद्दा भी बनी।

आखिर ट्रंप को खाने में क्या पसंद हैं? उनके लिए व्हाइट हाउस में नास्ते से लेकर भोजन कौन तैयार करता है? लोग इसके बारें में जानकारियां तलाशते रहते हैं।

Newstrack.Com आज आपको उस व्हाइट हाउस की चीफ शेफ क्रिस्टेटा पासिया कॉमरफोर्ड के बारें में बता रहा है। क्रिस्टेटाफिलीपींस में पैदा हुईं। बीते 15 सालों से व्हाइट हाउस की चीफ शेफ हैं। वो जॉर्ज बुश जूनियर के समय में व्हाइट हाउस में शेफ के तौर पर तैनात हुई थीं।

उन्होंने 8 सालों तक बराक ओबामा के लिए और अब डोनाल्ड ट्रंप के लिए विशेष पकवानों को तैयार करने का काम कर रही हैं। क्रिस्टेटा पहली महिला और पहली एशियाई हैं जो इस पद के लिए चुनी गईं। इससे पहले व्हाइट हाउस में चीफ शेफ सिर्फ पुरुष की ही बने थे।

ये भी पढ़ें…अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तालिबान नेता अब्दुल गनी बरादार से फोन पर की बात

फिलीपींस से ऐसे पहुंची व्हाइट हाउस

फिलीपींस एक सामान्य परिवार से आती हैं। उन्होंने अपनी पढ़ाई भी वहीं से पूरी की है। उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ फिलीपींस से फूड टेक्नोलॉजी का कोर्स किया है। 23 साल की उम्र में ही वो अमेरिका चली आई थीं।

क्रिस्टेटा ने व्हाइट हाउस में चीफ शेफ बनने से पहले कई नामी जगहों पर शेफ के रूप में जॉब किया। उनकी पहली जॉब ओ’हेयर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास मौजूद शेरेटन होटल में खानसामा की थी। इसके बाद उन्होंने होटल की इंटरनेशनल श्रृंखला हयात में भी काम किया।

खुश हुआ ईरान, अमेरिका से डोनाल्ड ट्रंप के लिए आई बुरी खबर

क्लिंटन के समय में पहुचीं व्हाइट हाउस

व्हाइट हाउस में क्रिस्टेटा पहुंचीं साल 1995 में।उन्हें तत्कालीन चीफ शेफ वाल्टर शिबे ने नियुक्त किया था। तब अमेरिका के राष्ट्रपति बिल क्लिंटन हुआ करते थे। अपने काम में बेहद दक्ष क्रिस्टेटा की बनाई डिशेज सभी की पसंद बनती चली गईं। साल 2005 में जब वाल्टर शिबे रिटायर हो गए तो फिर प्रशासन को इस पद के लिए सबसे उपयुक्त उम्मीदवार क्रिस्टेटा लगीं।

डोनाल्ड ट्रंप के बयान पर बोला ईरान, सैकड़ों मिसाइलें हैं तैयार