खुलासा: चीन की इस लैब से फैला कोरोना वायरस, कर रहा था ये खतरनाक काम

दुनियाभर में कोरोना का खौफ से लोगों को हिला दिया है। हर दिन नॉवल कोरोना वायरस (कोविड-19) से संक्रमित लोगों की संख्या में इजाफा हो रहा है,लेकिन अभी भी बड़ा सवाल है कि आखिर इस खतरनाक वायरस की शुरुआत कहां से हुई।

Published by suman Published: February 17, 2020 | 8:19 pm
Modified: February 17, 2020 | 8:38 pm

नई दिल्ली :  दुनियाभर में कोरोना का खौफ लोगों को हिला दिया है। हर दिन नॉवल कोरोना वायरस (कोविड-19) से संक्रमित लोगों की संख्या में इजाफा हो रहा है,लेकिन अभी भी बड़ा सवाल है कि आखिर इस खतरनाक वायरस की शुरुआत कहां से हुई।

चीन के हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान को इस बीमारी का केंद्र माना जाता है। लेकिन अब चीनी वैज्ञानिकों का मानना है कि हो सकता है कोरोना वायरस की शुरुआत वुहान के फिश मार्केट से कुछ दूर स्थित एक सरकारी रिसर्च लैब से हुई हो। चीन की सरकारी साउथ चाइना यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नॉलजी के मुताबिक, हुबेई प्रांत में वुहान सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल (WHDC) ने रोग फैलाने वाली इस बीमारी के वायरस को जन्म दिया हो।

 

यह पढ़ें…अपराधियों का सरकार के साथ प्राइवेट पब्लिक पार्टनरशिप हो गया है- दीपक सिंह

 

 

 

बोताओ शाओ और ली शाओ का दावा है कि (WHCDC) ने लैब में ऐसे जानवरों को रखा जिनसे बीमारियां फैल सकती हैं, इनमें 605 चमगादड़ भी शामिल थे। उनके मुताबिक, ‘हो सकता है कि 2019-CoV कोरोना वायरस की शुरुआत यहीं से हुई हो।’

 

इसके अलावा इनके रिसर्च पेपर में यह भी कहा गया है कि कोरोना वायरस के लिए जिम्मेदार चमगादड़ों ने एक बार एक रिसर्चर पर हमला कर दिया और चमगादड़ का खून उसकी स्किन में मिल गया। रोगियों में मिले जीनोम सीक्वेंस 96 या 89 फीसदी थे जो बैट( CoC ZC45 )कोरोना वायरस के समान हैं लेकिन ये मूल रूप से राइनोफस एफिनिस में पाए जाते हैं।’

 

 

रिपोर्ट में कहा गया है कि यहां मौजूद देसी चमगादड़ वुहान के सीफूड मार्केट से करीब 600 मील दूर पाए जाते हैं और यूनन व झेजियांग प्रांत से उड़कर आए चमगादड़ों की संख्या शायद बहुत कम रही होगी। इसके अलावा, स्थानीय लोगों को चमगादड़ खाने की सलाह बहुत कम दी जाती है। 31 निवासियों और 28 विजिटर्स ने इस बारे में गवाही भी दी है। इसके अलावा इन वैज्ञानिकों ने यह भी कहा है कि यह रिसर्च WHCDC की सिर्फ कुछ गज बड़ी एक लैब में की जा रही थी। रिपोर्ट के अनुसार, WHCDC में एक रिसर्चर ने बताया था कि एक चमगादड़ का खून स्किन में आने के बाद उसने खुद को दो हफ्तों तक अलग रखा था।

 

यह पढ़ें…निर्भया केस: नए डेथ वारंट पर निर्भया की मां आशा देवी बोलीं- बहुत खुश नहीं हूं

 

इसी व्यक्ति ने एक चमगादड़ द्वारा पेशाब किए जाने के बाद भी खुद को अलग रखा था।  दुनियाभर में अब तक 69,000 से ज्यादा लोग इस बीमारी से संक्रमित हो चुके हैं। वहीं चीन में 1,665 लोगों की कोरोना से जान जा चुकी है। अधिकतर मौतें हुबेई प्रांत में हुई हैं जो इस बीमारी का केंद्र है।

चीन में कोरोनोवायरस से संक्रमित कुल 10,844 मरीजों को रविवार के अंत तक ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी. चीनी स्वास्थ्य प्राधिकरण ने सोमवार को यह घोषणा की. समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने अपनी दैनिक रिपोर्ट में कहा कि रविवार को 1,425 लोगों को ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी मिल गई.