×

CWG 2022: एफआईएच ने भारतीय महिला हॉकी टीम से मांगी माफी, मामले की समीक्षा की बात कही

CWG 2022: अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (FIH) ने भारतीय और ऑस्ट्रेलिया के बीच सेमीफाइनल मैच में हुए घड़ी विवाद में माफी मांगी है। एफआईएच ने यह भी कहा की मामले की समीक्षा की जाएगी।

Aakash Mishra
Written By Aakash Mishra
Updated on: 2022-08-06T17:17:39+05:30
CWG 2022: एफआईएच ने भारतीय महिला हॉकी टीम से मांगी माफी, मामले की समीक्षा की बात कही
X

Indian Women's Hockey Team (Image Credit: Twitter)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Commonwealth Games 2022: कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारतीय महिला हॉकी टीम को शुक्रवार को दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से हार झेलनी पड़ी। भारत की टीम इस सेमीफाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया से कही भी पीछे नहीं थी। दोनों टीमों ने नियमित समय में 1-1 गोल किए थे। जिसके बाद पेनल्टी शूटआउट खेला गया। जिस दौरान भारतीय टीम के साथ बड़ा धोका हो गया। पेनल्टी शूटआउट के दौरान रेफरी की गलती के कारण ऑस्ट्रेलिया की टीम को फायदा हुआ और भारत को हार झेलनी पड़ी। अब इस मामले पर अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (FIH) ने भारतीय महिला हॉकी टीम से माफ़ी मांगी है।

एफआईएच ने बयान जारी किया

एफआईएच ने जारी किए गए बयान में कहा, ''बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में ऑस्ट्रेलिया और भारत की महिला टीमों के बीच खेले गए सेमीफाइनल मैच के दौरान शूटआउट गलती से बहुत जल्दी शुरू हो गया था (तब घड़ी संचालित होने के लिए तैयार नहीं थी) जिसके लिए हम माफी मांगते हैं। इस तरह की परिस्थिति में दोबारा पेनल्टी शूटआउट लेने की प्रक्रिया है और ऐसा किया भी गया। एफआईएच इस घटना की पूरी जांच करेगा ताकि भविष्य में इस तरह के मसलों से बचा जा सके।''


एफआईएच ने भारतीय महिला हॉकी टीम से माफी मांगकर मामले की जाँच की बात कही है। लेकिन नियमों का हवाला देते हुए अपना पलड़ा भी झाड लिया है।

जाने पूरा मामला

दरअसल, जब मैच 1-1 की बराबरी पर खत्म हुआ तो पेनल्टी शूटआउट के जरिए मैच का फैसला निकालने का निर्णय किया गया। पहला मौका ऑस्ट्रेलिया की टीम को दिया गया। ऑस्ट्रेलिया की ओर से मेलोन ने पहला प्रयास किया और वह गोल करने में नाकाम रही। लेकिन उसे फिर दोबारा मौका दिया गया, ऐसा इसलिए क्योंकि रेफरी का कहना था की घड़ी चालू नहीं हुई थी। इस वजह से ऑस्ट्रेलिया का पहला प्रयास मान्य नहीं होगा और टीम को दोबारा मौका दिया जाएगा। जिसके बाद मेलोन ने दूसरे प्रयास में गोल दाग दिया।

सहवाग ने भी नाराजगी जाहिर की

पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने इस मामले में ट्वीट कर के अपनी नाराजगी जाहिर की, उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा "पेनल्टी मिस हुई ऑस्ट्रेलिया से और अंपायरों ने कहा सॉरी घड़ी शुरू नहीं हुई. जब तक हम क्रिकेट में सुपरपावर नहीं थे तब क्रिकेट में भी ऐसा होता था. हॉकी में भी जल्द बनेंगे और सभी घड़ियां समय पर शुरू होंगी. अपनी लड़कियों पर नाज़ है।"


Aakash Mishra

Aakash Mishra

Next Story