ब्रिटिश नागरिकों से जबरन शादी मामले में Pak बना नंबर वन, यहां जानें Ind की रैंकिंग

ब्रिटेन के गृह कार्यालय और विदेश कार्यालय की संयुक्त इकाई जबरन विवाह इकाई (एफएमई) ने 2018 में ऐसे 110 मामले दर्ज किए गए। जहां भारत में ब्रिटिश नागरिकों को जबरन विवाह करना पड़ा।

Published by Aditya Mishra Published: May 29, 2019 | 5:18 pm
Modified: May 29, 2019 | 5:23 pm
प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली: ब्रिटिश नागरिकों से जबरन विवाह से जुड़े मामले में भारत तीसरे नंबर पर पहुंच गया है। ब्रिटेन की सरकार के नए आंकड़े से इसका खुलासा हुआ है। इस तरह के सबसे ज्यादा मामले पाकिस्तान से आते हैं।

ये भी पढ़ें…गिरफ्तार बांग्लादेशी अटारी वाघा बॉर्डर से पाकिस्तान जाने की फिराक में थे

ब्रिटेन के गृह कार्यालय और विदेश कार्यालय की संयुक्त इकाई जबरन विवाह इकाई (एफएमई) ने 2018 में ऐसे 110 मामले दर्ज किए गए। जहां भारत में ब्रिटिश नागरिकों को जबरन विवाह करना पड़ा।

जबरन विवाह के सबसे ज्यादा 769 मामले पाकिस्तान से जुड़े थे। इसके बाद बांग्लादेश से जुड़े 157 मामले सामने आए। पिछले साल 46 मामलों के साथ सोमालिया चौथे स्थान पर रहा।

ये भी पढ़ें…मान गये गुरु, ये शर्मनाक काम सिर्फ पाकिस्तान ही कर सकता है!

एफएमयू ने पिछले सप्ताह जारी अपने 2018 के विश्लेषण में कहा, ‘‘जबरन विवाह किसी एक देश या संस्कृति से जुड़ी समस्या नहीं है। वर्ष 2011 से ही एफएमयू एशिया, मध्य पूर्व, यूरोप और उत्तरी अमेरिका के 110 से ज्यादा देशों से जुड़े ऐसे मामलों को देख रहा है।”

2017 में भारत से जुड़े इस तरह के 82 मामले सामने आए थे। इसी तरह 2016 में 79 मामले दर्ज किए गए थे।

ये भी पढ़ें…पाकिस्तान को शपथग्रहण में न्योता नहीं, जानिये क्या संदेश देना चाहते हैं मोदी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App