गिरफ़्तार पाकिस्तान के पूर्व पीएम: करोड़ों के घोटाले के हैं आरोपी

एनएबी ने मुख्य रूप से मरियम पर चीनी मिलों के शेयरों की बिक्री/खरीद की आड़ में मनी लॉ्ड्रिरंग में शामिल होने का आरोप लगाया है। इसने कहा कि वह 2008 में मिलों की सबसे बड़ी शेयरधारक बन गईं, जिनके पास 1.2 करोड़ से अधिक के शेयर थे।

नवाज

नवाज

नई दिल्ली: पाकिस्तान के राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) ने अपने देश ​के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि इससे पहले एनबीए ने चौधरी शुगर मिल घोटाला मामले में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था।

क्यों हुई गिरफ्तारी

पाकिस्तान के डॉन न्यूज के मुताबिक एनएबी के अध्यक्ष ने मामले में गिरफ्तारी वारंट जारी किया और लाहौर ब्यूरो की एक टीम आज कोट लखपत जेल में उनसे मुलाकात करेगी,और उनकी फिजिकली रिमांड के लिए उन्हें जवाबदेही अदालत में ले जाएगी।

ये भी पढ़ें— थम नहीं रहा केरल में राजनीतिक हिंसा का दौर

बताते चलें कि शरीफ अल-अजीजिया मिल्स भ्रष्टाचार मामले में सात साल जेल की सजा भुगत रहे हैं। चौधरी शुगर मिल मामले में इसके पहले एनएबी ने उनकी बेटी मरियम नवाज और भतीजे यूसुफ अब्बास को गिरफ्तार कर किया था। ये दोनों 23 अक्टूबर तक न्यायिक रिमांड पर हैं।

लगे हैं ये आरोप

एनएबी ने मुख्य रूप से मरियम पर चीनी मिलों के शेयरों की बिक्री/खरीद की आड़ में मनी लॉ्ड्रिरंग में शामिल होने का आरोप लगाया है। इसने कहा कि वह 2008 में मिलों की सबसे बड़ी शेयरधारक बन गईं, जिनके पास 1.2 करोड़ से अधिक के शेयर थे।

ये भी पढ़ें— थम नहीं रहा केरल में राजनीतिक हिंसा का दौर