Top

ट्रंप को जिताने में जुटा है ये INDIAN, पत्नी से मिलने गया था अमेरिका

By

Published on 29 July 2016 4:51 PM GMT

ट्रंप को जिताने में जुटा है ये INDIAN, पत्नी से मिलने गया था अमेरिका
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव प्रचार में एक भारतीय अहम भूमिका निभाने जा रहा है। इस भारतीय को रिपब्लिकन पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप के चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इस भारतीय का नाम है अविनाश इरागवारापू। अविनाश (30 साल) ने आईआईएम लखनऊ से पढाई की है। वह मूलतः आंध्र प्रदेश के पश्चिम गोदावरी जिले के रहने वाले हैं।

दरअसल अविनाश ने हाइटेक चुनाव प्रचार की बढ़ती अहमियत को पहले ही भांप लिया था। ठीक वैसे ही जैसे प्रशांत किशोर ने भारतीय चुनाव प्रचार को एक नया रूप दिया। साल 2014 में बीजेपी की बड़ी जीत और जबर्दस्त चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी प्रशांत किशोर के ही हाथों थी। उसी तर्ज पर यदि रिपब्लिकन पार्टी ट्रंप की जीत और कैंपेन के लिए अविनाश को हायर कर चुकी है तो इससे उनके कद को समझ जा सकता है। खासकर तब जब अमेरिकी चुनाव में इस तरह के प्रचार खासी अहमियत रखते हैं।

पहले भी संभाल चुके हैं कमान

गौरतलब है कि अविनाश इससे पहले लोकसभा चुनाव में जगनमोहन रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस के प्रचार की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। वहां मिली सफलता के बाद अब अविनाश इस कामयाबी दोहराने के लिए एरिजोना में हैं। जाहिर है वो इस बार अब तक की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका में हैं।

सपना 'मेक अमेरिका ग्रेट अगेन'

बताया जाता है कि अविनाश ने पिछले हफ्ते क्लीवलैंड में हुई रिपब्लिकन पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन में शिरकत की थी। ज्ञात हो कि इसी सम्मेलन में रिपब्लिकन पार्टी ने ट्रंप को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार नामित किया गया था था। अविनाश का इस महत्वपूर्ण जिम्मेदारी पर कहना है कि वह बस डोनाल्ड ट्रंप के 'मेक अमेरिका ग्रेट अगेन' के सपने को साकार करना चाहते हैं।

ऐसे मिला मौका

अविनाश को इतनी बड़ी जिम्मेदारी मिलने के पीछे की कहानी भी कम रोचक नहीं है। दरअसल अविनाश की पत्नी एरिजोना में इंटेल में काम करती थी। साल 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद अविनाश पत्नी से मिलने एरिजोना गए। वहां वे एरिजोना में गवर्नर के चुनाव में डोग डुसी के प्रचार अभियान के साथ जुड़ गए। अविनाश ने उनके लिए भाषण लिखे। रिपब्लिकन नेता डुसी के गवर्नर पद का चुनाव जीतने के बाद अविनाश छा गए।

एक मुलाकात ने दिलाई बड़ी जिम्मेदारी

इस सफलता से उत्साहित अविनाश थोड़े ही समय में वोटरों का डाटा इकट्ठा करने वाले से 'प्रचार प्रभारी' की भूमिका में आ गए। और इसी के ठीक बाद एरिजोना में वे रिपब्लिकन पार्टी अध्यक्ष राबर्ट ग्राहम से मिले। इस मुलाकात ने अविनाश के लिए एक और बड़ी जिम्मेदारी का रास्ता खोल दिया।

ट्रंप-मोदी की प्रचार रणनीति में काफी समानताएं

अपनी इस जिम्मेदारी के बारे में अविनाश का कहना है कि डोनाल्ड ट्रंप और भारतीय पीएम नरेन्द्र मोदी की प्रचार रणनीति में काफी समानताएं हैं। मोदी की ही तरह मीडिया ट्रंप की भी भारी आलोचना कर रहा है। अविनाश के पास एरिजोना से दोबारा सीनेटर का चुनाव लड़ रहे दिग्गज रिपब्लिकन नेता जॉन मैक्केन के प्रचार अभियान की भी जिम्मेदारी है।

Next Story