ए सैट परीक्षण पर नासा के बयान पर भारत ने टिप्पणी करने से किया इंकार

भारत ने 27 मार्च को निचली कक्षा के अपने एक उपग्रह को जमीन से अंतरिक्ष में मार करने वाली मिसाइल से मार गिराया था और अंतरिक्ष ताकत बन गया था। इससे पहले केवल तीन देशों- अमेरिका, रूस और चीन के पास ए सैट क्षमता थी।

नयी दिल्ली:  सरकार ने बुधवार को अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के इस आकलन पर कुछ भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है  कि भारत के सेटेलाईट निरोधी हथियार के परीक्षण से अंतरिक्ष में मलबे के 400 टुकड़े बन गये हैं जो अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं।

इस संबंध में संपर्क करने पर रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

ये भी देखें: कोर्ट से बोला विजय माल्या: बीवी-बच्चों की कमाई और उधारी पर कट रही है जिंदगी

भारत ने 27 मार्च को निचली कक्षा के अपने एक उपग्रह को जमीन से अंतरिक्ष में मार करने वाली मिसाइल से मार गिराया था और अंतरिक्ष ताकत बन गया था। इससे पहले केवल तीन देशों- अमेरिका, रूस और चीन के पास ए सैट क्षमता थी।

नासा ने भारत द्वारा अपने एक सेटेलाइट को मार गिराये जाने को मंगलवार को भयावह करार दिया था और कहा था कि इससे मलबे के जो 400 टुकड़े बने हैं उससे आईएसएस के लिए खतरा पैदा हो गया है।

(भाषा)