×

भारतीय दूतावास की सलाह- कतर में रहने वाले भारतीय रहें सतर्क, अफवाहों पर ना दें ध्यान

भारतीय दूतावास ने कतर में रह रहे भारतीयों को सतर्क रहने और अपनी यात्रा योजनाओं में संशोधन के लिए अपने ट्रेवेल एजेंटों से संपर्क करने की सलाह दी है।

tiwarishalini
Published on: 8 Jun 2017 4:30 PM GMT
भारतीय दूतावास की सलाह- कतर में रहने वाले भारतीय रहें सतर्क, अफवाहों पर ना दें ध्यान
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

भारतीय दूतावास की सलाह- कतर में रहने वाले भारतीय रहें सतर्क. अफवाहों में ना दें ध्यान

दोहा: भारतीय दूतावास ने कतर में रह रहे भारतीयों को सतर्क रहने और अपनी यात्रा योजनाओं में संशोधन के लिए अपने ट्रेवेल एजेंटों से संपर्क करने की सलाह दी है। इस सप्ताह के शुरू में कई खाड़ी के देशों द्वारा कतर से कूटनीतिक संबंध तोड़ लेने के मद्देनजर यह सलाह दी गई है। यह सलाह बुधवार को जारी की गई। इसमें दूतावास ने कहा है कि संबंधित एयरलाइंस ने उड़ानों में अवरोध के बाद रद्द उड़ानों के लिए धन वापसी की पेशकश की है।

सलाह में कहा गया है, "भारतीय यात्रियों से इसलिए अपनी यात्रा व्यवस्था में संशोधन के लिए अपने यात्रा प्रदाताओं से संपर्क करने और आगे की घटनाओं के प्रति सतर्क रहने का अनुरोध किया जाता है।"

यह भी पढ़ें ... टेररिज्म को सपोर्ट करने का आरोप, सऊदी अरब समेत 4 देशों ने तोड़े कतर से सारे रिश्ते

इसमें कहा गया, "भारतीय दूतावास हालात पर नजदीक से नजर रखे है और कतर में भारतीय नागरिकों की सुरक्षा व रक्षा सुनिश्चित करने के लिए कतर के अधिकारियों के संपर्क में है।"

इसमें कहा गया, "इस क्षेत्र में ऐसा कुछ नहीं घटित हो रहा जो कतर में रहने वाले लोगों की शारीरिक सुरक्षा के लिए खतरा हो। कृपया अपने को नवीनतम खबरों से अपडेट रखें और तथ्यों की पड़ताल किए बगैर अफवाहों पर विश्वास नहीं करें।"

भारतीय दूतावास की सलाह- कतर में रहने वाले भारतीय रहें सतर्क. अफवाहों में ना दें ध्यान

सऊदी अरब, बहरीन, यमन, संयुक्त अरब अमीरात, मिस्र ने कतर पर कथित तौर पर आतंकवाद का समर्थन करने के आरोप लगाने के बाद सोमवार को कतर से अपने कूटनीतिक संबंध तोड़ लिए हैं।

कतर से कूटनीतिक संबंध तोड़े जाने को कतर और कुछ अरब खाड़ी के देशों के समूह के बीच साल भर से चल रहे विवाद के चरम के तौर पर देखा जा रहा है, जिस समूह की अगुवाई सऊदी अरब कर रहा है।

यह भी पढ़ें ... खाड़ी संकट: कतर की मदद को आगे आया कुवैत, मध्यस्थता की कोशिश जारी

मालदीव, यमन, मारीशस, मारिटानिया और जॉर्डन ने भी कतर से कूटनीतिक संबंध तोड़ लिए हैं।

भारतीय दूतावास की सलाह के अनुसार, कतर के अधिकारियों ने कहा है कि सामान्य जीवन सुनिश्चित करने के लिए सभी जरूरी कदम उठाएंगे, जिसमें खाद्य सामानों की आपूर्ति की शामिल है। कतर में करीब 630,000 प्रवासी भारतीय हैं। कतर भारत को तरलीकृत प्राकृतिक गैस (एलएनजी) का सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता है।

--आईएएनएस

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story