Top

मालदीव गिरफ्तार भारतीय, ब्रिटिश पत्रकार को स्वदेश भेजेगा

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 10 Feb 2018 10:08 AM GMT

मालदीव गिरफ्तार भारतीय, ब्रिटिश पत्रकार को स्वदेश भेजेगा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

माले : मालदीव में जारी राजनीतिक उठापठक के बीच गिरफ्तार किए गए एक वैश्विक समाचार एजेंसी के लिए काम करने वाले एक भारतीय नागरिक समेत दो पत्रकारों को उनके संबंधित देशों को सौंपा जाएगा। पुलिस ने इस बात की जानकारी दी है। भारतीय नागरिक अमृतसर निवासी मनी शर्मा और भारतीय मूल के ब्रिटिश नागरिक आतिश रावजी पटेल, हिंद महासागर के इस प्रवाली राष्ट्र में एएफपी के लिए आपातकाल को कवर कर रहे थे। राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन ने छह फरवरी को यहां आपातकाल घोषित किया था।

मालदीव सरकार ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि दोनों को शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया और अब उन्हें उनके देशों को सौंपने की तैयारी पूरी हो चुकी है, क्योंकि वे देश में पर्यटन वीजा पर काम कर रहे थे, जो आव्रजन कानून का उल्लंघन है। हालांकि उनके खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की गई है।

ये भी देखें :मालदीव विवाद : राष्ट्रपति के प्रतिनिधि ने चीनी विदेश मंत्री से की मुलाकात

बयान में कहा गया है, "हमने पाया कि दोनों (दोनों पत्रकारों) ने मालदीव से जाने की बात कही, जिसके बाद उनके खिलाफ कोई कानूनी कदम नहीं उठाया गया।"

बयान में कहा गया है, "सभी विदेशी नागरिकों को देश में काम करने के लिए बिजनेस या फिर कार्य वीजा चाहिए होता है और यह शर्त पत्रकारों पर भी लागू होती है।"



भारतीय विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा था कि उसे सूचना प्राप्त हुई है कि एक भारतीय नागरिक मनी शर्मा जो बतौर पत्रकार कार्यरत थे, उन्हें मालदीव के अधिकारियों ने हिरासत में ले लिया है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, "हमने अपने दूतावास से स्थानीय अधिकारियों से संपर्क में रहने को कहा, ताकि मामले में अधिक जानकारी जुटाई जा सके।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story