ईरानी चुनाव में बड़ी जीत, महिला उम्मीदवारों ने उलेमाओं को पछाड़ा

Published by May 3, 2016 | 6:01 pm

तेहरान: ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने संसदीय चुनाव में रिकार्ड संख्या में महिलाओं के चुने जाने पर मतदाताओं को बधाई दी है। विदेशी मीडिया के अनुसार ईरान में 1979 की इस्लामी क्रांति के बाद पहली बार देश में इतनी संख्या में महिलाएं सांसद चुनी गई हैं।

6 फीसदी सीट पर महिलाओं का कब्ज़ा
राष्ट्रपति रूहानी की ओर से शुक्रवार को आयोजित दूसरे चुनावी चरण के परिणाम के बाद यह प्रतिक्रिया सामने आई है। इन चुनावों में उदारवादियों और सुधारकों ने संयुक्त रूप से बहुमत प्राप्त की है। ईरानी संसद में कुल 17 महिलाओं का चयन हुआ है जो 290 सदस्यों वाले संसद का 17 प्रतिशत है।

केवल 16 धर्मशास्त्री निर्वाचित हुए
इस चुनाव में केवल 16 धर्मशास्त्री निर्वाचित हुए हैं। इसका मतलब है कि नई संसद में धार्मिक विद्वानों की तुलना में महिलाओं की संख्या अधिक होगी।

iran-4राष्ट्रपति रूहानी ने जताया संतोष
राष्ट्रपति रूहानी का इस बारे में कहना था कि जनता ने 26 फरवरी और 29 अप्रैल के चुनावों में सबसे अच्छे उम्मीदवारों को चुना है। चुनाव के दूसरे चरण में उन क्षेत्रों में मतदान आयोजित हुई थी जहां फरवरी में पहले चरण में कोई भी उम्मीदवार 25 प्रतिशत वोट हासिल करने में सफल नहीं रहा था।

थाईलैंड और नाइजीरिया के बराबर होगी संख्या
दूसरे चुनावी चरण में चार और महिला उम्मीदवारों ने जीत हासिल की थी। हालिया चुनाव के बाद ईरानी संसद में महिला प्रतिनिधियों की संख्या थाईलैंड और नाइजीरिया की संसद में महिला सदस्यों के बराबर हो जाएगी।