Britain: लंदन में खालिस्तान समर्थकों का उपद्रव, भारतीय उच्चायोग से तिरंगा उतारा, भारत ने ब्रिटेन से जताया कड़ा विरोध

Britain: हमलावरों ने भारतीय उच्चायोग में तोड़फोड़ करने के साथ सारी हदें पार करते हुए राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे का भी अपमान किया।

Anshuman Tiwari
Published on: 20 March 2023 9:43 AM GMT
Britain: लंदन में खालिस्तान समर्थकों का उपद्रव, भारतीय उच्चायोग से तिरंगा उतारा, भारत ने ब्रिटेन से जताया कड़ा विरोध
X
खालिस्तान समर्थकों ने लंदन में भारतीय उच्चायोग पर हमला बोला (फोटो: सोशल मीडिया )

Britain: अमृतपाल सिंह के खिलाफ पंजाब पुलिस की कार्रवाई के बाद खालिस्तान समर्थकों ने लंदन में भारतीय उच्चायोग पर हमला बोल दिया। हमलावरों ने भारतीय उच्चायोग में तोड़फोड़ करने के साथ सारी हदें पार करते हुए राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे का भी अपमान किया। खालिस्तान समर्थकों ने भारतीय उच्चायोग से तिरंगा उतार दिया।

खालिस्तान समर्थकों की ओर से उठाए गए इस कदम पर भारत की ओर से तीखी प्रतिक्रिया जताई गई है। भारतीय विदेश मंत्रालय की ओर से विरोध जताने के लिए ब्रिटिश उच्चायुक्त को तलब भी किया गया। भारतीय विदेश मंत्रालय ने इस घटना की निंदा करते हुए कहा कि इस तरह का कदम पूरी तरह अस्वीकार्य है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बातचीत ने घटना को शर्मनाक बताते हुए इसकी तीखी निंदा की है।

लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग में तोड़फोड़

दरअसल पंजाब पुलिस ने इन दिनों अमृतपाल सिंह और उसके समर्थकों के खिलाफ शिकंजा कस दिया है। पूरे पंजाब में अमृतपाल के तमाम समर्थकों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस अमृतपाल को भी गिरफ्तार करने की कोशिश में जुटी हुई है। पंजाब पुलिस की इस कार्रवाई पर विरोध जताने के लिए खालिस्तान समर्थकों ने रविवार को लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग पर हमला बोल दिया।

इस दौरान उच्चायोग में तोड़फोड़ की गई और तिरंगे का भी अपमान किया गया। भारतीय उच्चायोग के बाहर सुरक्षा व्यवस्था न होने के कारण खालिस्तान समर्थकों ने आसानी से इस घटना को अंजाम दिया। ब्रिटेन के उच्चायुक्त एलेक्स एलिस ने घटना की जानकारी देते हुए इसकी तीखी निंदा की है। उन्होंने इस बाबत स्वीट करते हुए कहा कि यह पूरी तरह अस्वीकार्य है और मैं लंदन में हुए इस शर्मनाक कृत्य की तीखी निंदा करता हूं।

भारत ने जताया कड़ा विरोध

लंदन में हुई इस घटना पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने भी तीखी प्रतिक्रिया जताई है। विदेश मंत्रालय ने घटना पर विरोध जताने के लिए ब्रिटिश उच्चायुक्त को तलब किया। उच्चायुक्त एलेक्स एलिस के दिल्ली से बाहर होने के कारण उच्चायोग के उप प्रमुख विदेश मंत्रालय पहुंचे। जानकार सूत्रों के मुताबिक विदेश मंत्रालय की ओर से ब्रिटेन को कड़ा संदेश दिया गया है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने ब्रिटिश सरकार के उदासीन रवैए पर सख्त नाराजगी जताते हुए भारतीय उच्चायोग पर हमला करने वालों को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की है।

भारत ने इस बात को लेकर भी नाराजगी जताई है कि लंदन में भारतीय उच्चायोग के बाहर पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था नहीं की गई थी। भारत ने ब्रिटिश सरकार से पूछा है कि आखिरकार इन उपद्रवी तत्वों को भारतीय उच्चायोग में प्रवेश करने की अनुमति कैसे हासिल हुई? उच्चायोग की सुरक्षा के लिए मुकम्मल बंदोबस्त क्यों नहीं किया गया था? विदेश मंत्रालय का कहना है कि ब्रिटेन में स्थित भारतीय राजनयिक परिसरों और उच्चयोग कर्मियों की सुरक्षा के प्रति ब्रिटिश सरकार की यह उदासीनता भारत को मंजूर नहीं है।

आतंकी समूहों से अमृतपाल के रिश्ते

इस बीच खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह के विदेश में बैठे आतंकी समूहों से भी रिश्ते का खुलासा हुआ है। जानकार सूत्रों का कहना है कि सुरक्षा एजेंसियों की जांच पड़ताल में पता चला है कि अमृतपाल सिंह के विदेश के कई आतंकी समूह से गहरे रिश्ते हैं। इसी कारण सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह अलर्ट हो गई हैं।

अमृतपाल से जुड़ी हर चीज की बारीकी से जांच पड़ताल की जा रही है। अमृतपाल के बैंक खातों से लेकर उसके सभी तरह के लिंक की जांच का काम शुरू कर दिया गया है। अमृतपाल के पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के साथ कनेक्शन की बात भी सामने आई है।

Anshuman Tiwari

Anshuman Tiwari

Next Story