कोरोना का खुलासा: ब्राजील के राष्ट्रपति ने कही ये चौंकाने वाली बात, पढ़कर होंगे हैरान

कोरोना के कहर को देखते हुए लगभग पूरे विश्व में  लाक डाउन है और इसके कारण  करीब 2.6 अरब लोग लॉकडाउन के कारण अपने घरों में बंद रहने को मजबूर हैं, ताकि सोशल डिस्टेंसिंग के जरिए कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

नई दिल्ली: सबसे पहले चीन में तबाही मचाने के बाद पूरी दुनिया में महामारी के रूप में फ़ैल चुके सबसे खतरनाक कोरोना वायरस से भारत समेत दुनिया भर के देश संघर्ष कर  रहे हैं। बता दें कि इस वायरस से दुनियाभर में अब तक 19,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

सोशल डिस्टेंसिंग ही रोक सकता है कोरोना के संक्रमण को

कोरोना के कहर को देखते हुए लगभग पूरे विश्व में  लाक डाउन है और इसके कारण  करीब 2.6 अरब लोग लॉकडाउन के कारण अपने घरों में बंद रहने को मजबूर हैं, ताकि सोशल डिस्टेंसिंग के जरिए कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। इस वायरस के प्रसार को रोकने से भले ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से लेकर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत दूसरे देशों के राष्ट्राध्यक्ष बड़े-बड़े कदम उठा रहे हों, लेकिन ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो इससे अलग ही राय रखते हैं।

ये भी देखें: भारत को कोरोना-मुक्त कैसे करें ?

बोलसोनारो- कोरोना असल में मीडिया ट्रिक्स

ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो (Jair Bolsonaro) कोरोना वायरस को लेकर दिए अपने एक बयान को लेकर विवादों में आ गए हैं। मंगलवार को उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर कुछ ज्यादा ही चिंता की जा रही है। यहीं नहीं, उन्होंने ब्राजील की मीडिया पर राष्ट्रव्यापी हिस्टीरिया फैलाने का आरोप भी लगाया। बोलसोनारो ने कहा कि कोरोना असल में मीडिया ट्रिक्स है।

जेयर बोलसोनारो ने एक राष्ट्रीय स्तर पर प्रसारित संबोधन में ये बातें कही। उन्होंने आरोप लगाया कि मीडिया इटली में मरने वालों की संख्या को अपने हिसाब से बढ़ाकर बता रही है।

इटली में हो रही मौतों का दिया ये तर्क

असली आंकड़ा उतना नहीं है, जितना की चैनलों में दिखाया जा रहा है। बोलसोनारो ने ये भी तर्क दिया कि इटली में इतनी मौतें सिर्फ कोरोना की वजह से नहीं हो रही, बल्कि वहां के ठंडे मौसम और बुजुर्ग आबादी के कारण ऐसा हो रहा है।

ये भी देखें: जल्द दस्तक देगा Nokia का नया स्मार्ट टीवी, जानें इसकी कीमत और खासियत

ब्राजील के राष्ट्रपति ने कहा, ‘वायरस आ गया, हम इसका सामना कर रहे हैं। यह जल्द ही गुजर जाएगा। लेकिन हमें अपनी जिंदगी जारी रखनी है। नौकरियों को बनाए रखना चाहिए।’