रोआनू चक्रवात से बांग्लादेश में बड़ी तबाही, चटगांव पर सबसे ज्यादा असर

ढाकाः रोआनू चक्रवात ने शनिवार को बांग्लादेश के दक्षिण तट पर भयंकर तबाही मचाई। इससे कम से कम 24 लोगों की जान चली गई और 100 से ज्यादा घायल हो गए। प्रशासन ने पांच लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है।

खतरनाक है चक्रवात
-रोआनू की वजह से 88 किलोमीटर प्रतिघंटा की तेज हवाएं चलीं।
-बरीसाल-चटगांव क्षेत्र पर चक्रवात ने बहुत बुरा असर डाला है और अन्य हिस्से भी प्रभावित हुए हैं।
-मृतकों की संख्या बढ़ने का भी अंदेशा, उत्तर-पश्चिम चटगांव पर सबसे ज्यादा असर।

पांच लाख को हटाया गया
बांग्लादेश के आपदा प्रबंधन मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि अब तक पांच लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। रोआनू की वजह से तेज आंधी तूफान से सैकडों झोपड़ियां नष्ट हो गईं।

समुद्री लहर से रंगाबाली में बांध टूटा
पटुआखाली में 300 परिवार बाढ़ की चपेट में आ गए हैं, क्योंकि तेज समुद्री लहर से रंगाबाली में बांध टूट गया। तेज हवा से पेड़ उखड जाने से रास्ते भी बंद हो गए हैं।

चटगांव एयरपोर्ट बंद
चटगांव के शाह अमानत इंटरनेशनल हवाई अड्डे ने रोआनू के चलते अपना उड़ान परिचालन निलंबित कर दिया है। मौसम विभाग के बुलेटिन में ढाका, खुलना, बारीसाल, चटगांव और सिलहट में बहुत अधिक बारिश होने का अनुमान लगाया गया है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App