×

म्यांमार हिंसा: घुटनों पर बैठीं नन की गुहार, मुझे मारो, बच्चों को छोड़ दो...

म्यांमार हिंसा से जुड़ा एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो के मुताबिक मिलिट्री और पुलिस हिंसक लोगों को रोकने के लिए बल प्रयोग कर रही थी कि तभी एक नन उनके सामने आकर घुटनों के बल बैठ गई।

Ashiki
Updated on: 10 March 2021 5:51 AM GMT
म्यांमार हिंसा: घुटनों पर बैठीं नन की गुहार, मुझे मारो, बच्चों को छोड़ दो...
X
म्यांमार: हिंसा के बीच करुणा की तस्वीर, घुटनों पर बैठीं नन की गुहार- मुझे मारो, बच्चों को छोड़ दो..
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: म्यांमार में सत्ता परिवर्तन के बाद से लगातार हिंसा की खबरे आ रही हैं। शासन का विरोध कर रहे लोगों को रोकने के लिए मिलिट्री और पुलिस गोलीबारी कर रही है। इस दौरान कई लोग मारे गए हैं, कई लोग घायल भी हुए हैं। इस बीच म्यांमार हिंसा से जुड़ा एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो के मुताबिक मिलिट्री और पुलिस हिंसक लोगों को रोकने के लिए बल प्रयोग कर रही थी कि तभी एक नन उनके सामने आकर घुटनों के बल बैठ गई।

ये भी पढ़ें: PAK-China के छूटेंगे पसीने: Indian Navy को मिली INS Karanj, बढ़ेगी समुद्री ताकत

गोली मारनी है तो मुझे मार दो...

नन ने मिलिट्री और पुलिस के जवानों से कहा कि गोली मारनी है तो मुझे मार दो लेकिन बच्चों को छोड़ दो। वीडियो में सामने हथियार लिए सेना खड़ी थी। पीछे देश के लोकतंत्र पर हमले का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारी। बीच में थीं सिस्टर ऐन रोजा। अब यह वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में दिखाया गया है कि सिस्टर ऐन रोज नू तवांग सुरक्षाबलों के सामने घुटनों के बल बैठकर लोगों को न मारने की विनती कर रही हैं।

बच्चों को छोड़ दीजिए

सफेद रोब और काले हैबिट को पहने हुए सिस्टर ऐन रोज नू तवांग बीचों-बीच और गोली न चलाने की गुहार करने लगीं। उन्होंने सुरक्षाबलों से कहा कि अगर आप मारना ही चाहते हैं तो मुझे गोली मार दीजिए, लेकिन बच्चों को छोड़ दीजिए। उनकी ये हालत देख कर दो सुरक्षकर्मी भी उनके साथ घुटनों के बल बैठकर हाथ जोड़कर उनसे बात करने लगे।

ये भी पढ़ें: थाईलैंड के PM को आया गुस्सा, झल्लाकर किया अजीब बर्ताव, वीडियो वायरल

ये घटना म्यांमार के मितकिना कस्बे की है। यहां पर सिस्टर ऐन रोज नू तवांग अपनी एक क्लीनिक चलाती हैं। जब घुटनों के बल बैठी सिस्टर हट नहीं रही थीं, तब सुरक्षाबलों के कुछ अधिकारी आए। उन्होंने सिस्टर ने वादा किया कि वो सिर्फ सड़क को क्लियर कराना चाहते हैं।

Ashiki

Ashiki

Next Story