×

कोरोना का सबसे घातक वैरिएंटः मचा देगा तबाही, भारत सहित अलर्ट सभी देश

दक्षिण अफ्रीका के वैज्ञानिकों ने गुरुवार को एक नए covid 19 संस्करण की जानकारी दी है जिससे राष्ट्रीय संचारी रोग संस्थान (एनआईसीडी) के अनुसार वैज्ञानिक इसके संभावित प्रभावों को समझने की कोशिश में लगे हुए हैं।

Network

NetworkNewstrack NetworkVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 25 Nov 2021 1:47 PM GMT

corona virus in russia
X

कोरोना वायरस (फोटो- सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Covid-19 New Version : जहां लोग अभी वैश्विक कोरोना महामारी के प्रकोप से उबर नहीं पाए वहीं दक्षिण अफ्रीका के नए कोविड-19 संस्करण का पता लगाया है जानकारी के मुताबिक एक रिपोर्ट में कहा गया कि दक्षिण अफ्रीका के वैज्ञानिकों ने एक नए कोविड-19 संस्करण की जानकारी दी है।

आपको बता दें यह जानकारी वैज्ञानिकों के सूत्रों द्वारा ही मिली है इसी बीच जर्मनी कोविड-19 100,1000 मौतों के निशान की ओर भी बढ़ रहा है देश के लीडर इन वेटिंग में बुधवार को कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए दैनिक वैज्ञानिक सलाह प्रदान करने के लिए अगली सरकार के केंद्र में एक विशेष टीम बनाने की भी योजना की।

एक नए covid 19 संस्करण का खतरा बढ़ा

केंद्र वाम सोशल डेमोक्रेट्स के ओलाफ स्कोल्ज ने एक स्थाई आपातकालीन समिति के निर्माण के साथ-साथ एक समाचार सम्मेलन की भी शुरुआत करने की बात की है इस बात पर उनकी पार्टी और दो अन्य लोगों ने यह नई सरकार बनाने पर सहमति भी जताई है।

दक्षिण अफ्रीका के वैज्ञानिकों ने गुरुवार को एक नए covid 19 संस्करण की जानकारी दी है जिससे राष्ट्रीय संचारी रोग संस्थान (एनआईसीडी) के अनुसार वैज्ञानिक इसके संभावित प्रभावों को समझने की कोशिश में लगे हुए हैं।


1 साल में लोगों का हाल बद से बदतर

हालांकि अभी इस नए संस्करण से क्या समस्याएं पैदा होंगी इसकी जानकारी अभी तक नहीं मिली है आपको बता दें (एनआईसीडी) ने अपने एक बयान में कहा कि जिन्होंने जिनोमिक सीक्वेंसिंग के बाद वेरिएंट बी 1.1.529 के 22 मामले दर्ज किए गए थे।

कोविड-19 महामारी ने सिर्फ 1 साल में लोगों का हाल बद से बदतर कर दिया था लोग घर से बाहर जाने के लिए तरस गए थे साथ ही आर्थिक रूप से भी लोगों की हालत काफी नाजुक हो चुकी थी।

ऐसे में कोरोना महामारी का दुबारा से प्रकोप होना जनता के लिए बेहद ही चिंतनीय विषय हो जाएगा।


रिपोर्ट- शीनू त्रिपाठी

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story