×

सुबह-सुबह दहला न्यूयॉर्क: 10 की मौत के बाद खून से लाल हुआ सुपरमार्केट, ताबड़तोड़ चली गोलियां

अमेरिका के न्यूयॉर्क के बफेलो सुपरमार्केट (Buffalo Supermarket) में शनिवार की दोपहर को कई लोगों पर गोली मारी गई।

सुबह-सुबह दहला न्यूयॉर्क: 10 की मौत के बाद खून से लाल हुआ सुपरमार्केट, ताबड़तोड़ चली गोलियां
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

New York Firing: अमेरिका के न्यूयॉर्क (New York News) से ताबड़तोड़ गोलाबारी की खबर मिली है। यहां के बफेलो सुपरमार्केट (Buffalo Supermarket) में शनिवार की दोपहर को कई लोगों पर गोली मारी गई। पुलिस ने फायरिंग करने वाले शख्स को हिरासत में ले लिया है। दुख की बात ये है कि टॉप फ्रेंडली मार्केट में गोलाबारी में 10 लोगों की मौत हो गई। जबकि गोली की चपेट में आए घायल हुए लोगों के बारे जानकारी नही है। इस वारदात के बारे में गवर्नर कैथी होचुल ने ट्वीट किया कि वह उनके गृहनगर बफ़ेलो में एक किराने की दुकान पर हुई इस घटना को लेकर अधिकारियों के संपर्क में हैं।

टॉप फ्रेंडली मार्केट में गोलाबारी की वारदात पर पुलिस के अनुसार, गोलीबारी से पहले हमलावर ने इस घटना को ऑनलाइन दिखाने के लिए कैमरे का इस्तेमाल किया। लेकिन पुलिस ने बंदूक से फायरिंग करने वाले 18 साल के हमलावर को गिरफ्तार कर लिया है।

इस 18 वर्षीय युवक को गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया गया है। 18 वर्षीय पेटन गेंड्रोन को शूटिंग के कुछ घंटों बाद शनिवार की रात पबफ़ेलो की एक अदालत में न्यायाधीश क्रेग हन्ना के सामने पेश किया गया।पेटन ने अपना अपराध कबूल नहीं किया है।

सामरिक गियर पहने और सोशल मीडिया साइट 'ट्विच' पर हमले की लाइव-स्ट्रीमिंग करते हुए गेंड्रोन ने एक किराने की दुकान पर धावा बोलने के बाद पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। बफ़ेलो के पुलिस आयुक्त जोसेफ ग्रैमाग्लिया ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि कुल 13 पीड़ितों में से 11 अश्वेत थे।

अश्वेत लोगों को बनाया निशाना

अधिकारियों ने कहा कि भारी हथियारों से लैस पेटन ने हमले को लाइव-स्ट्रीम करने के लिए एक कैमरे का इस्तेमाल किया और स्टोर में प्रवेश करने से पहले पार्किंग में कई पीड़ितों को गोली मार दी।किराना स्टोर के सुरक्षा गार्ड ने वापस गोली चलाई, लेकिन बंदूकधारी बुलेट प्रूफ वेस्ट पहने हुये था। उसने वापस गोलियां चलाईं और गार्ड मुठभेड़ में मारा गया।

इसके बाद पेटन गेंड्रोन ने स्टोर में घुसकर ग्राहकों और दुकानदारों और कर्मचारियों पर गोलियां चला दीं। नरसंहार के बाद गेंड्रोन ने दुकान के बाहर पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। एफबीआई के बफ़ेलो फील्ड कार्यालय के प्रभारी विशेष एजेंट स्टीफन बेलोंगिया ने कहा कि कानून प्रवर्तन अधिकारी शूटिंग को घृणा अपराध और नस्लीय रूप से प्रेरित हिंसक उग्रवाद के मामले के रूप में जांच रहे थे। बफ़ेलो के पुलिस आयुक्त जोसेफ ग्रैमाग्लिया ने कहा कि जिन 13 लोगों को गोली मारी गई उनमें से 11 अश्वेत थे।

पेटन गेंड्रोन बफ़ेलो से 200 मील से अधिक दूर न्यूयॉर्क शहर कोंकलिन में बड़ा हुआ। एरी काउंटी के जिला अटॉर्नी जॉन फ्लिन ने कहा कि पेटन का कोई आपराधिक रिकार्ड नहीं है। लेकिन ऐसे सबूत हैं जो संदिग्ध की ओर से "नस्लीय दुश्मनी" का संकेत देते हैं।

अश्वेतों की जनसंख्या बहुत ज्यादा

माना जाता है कि गेंड्रोन ने शूटिंग से पहले अपने कुछ दस्तावेज लिखे थे। 180-पृष्ठ का दस्तावेज़ गूगल ड्राइव पर अपलोड किया गया था और इंटरनेट मंचों पर लेखक के कट्टरपंथीकरण के साथ-साथ मुख्य रूप से काले लोगों को लक्षित करने की योजना का विवरण देता है।

लेखक खुद को श्वेत वर्चस्ववादी, फासीवादी और यहूदी विरोधी कहता है। दस्तावेज़ एक दूर-दराज़ साजिश सिद्धांत पर केंद्रित है जो आधारहीन रूप से यह मानता है कि अप्रवासियों द्वारा एक साजिश में पश्चिमी देशों में श्वेत आबादी को कम किया जा रहा है या "प्रतिस्थापित" किया जा रहा है।

इन बयान के कुछ पृष्ठों में, गेंड्रोन ने कथित तौर पर हमले के लिए अपनी योजनाओं का विवरण दिया और कई नस्लवादी और आप्रवास - विरोधी टिप्पणियां कीं। गेंड्रोन ने।कहा कि उन्होंने हमले के लिए ये स्थान चुना क्योंकि यहां अश्वेत जनसंख्या बहुत ज्यादा है।

शूटर ने कहा कि वह ब्रेंट हैरिसन टैरेंट द्वारा प्रभावित हुआ था। टैरेंट वही शूटर है जिसने 2019 में न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों में 51 लोगों की हत्या कर दी थी। उसने डायलन रूफ का भी उल्लेख किया है, जिसने 2015 में चार्ल्सटन में एक ब्लैक चर्च पर हमले में नौ उपासकों की हत्या कर दी थी।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story