×

थर-थर कांपा तानाशाह: रहस्यमई बुखार तेजी से अपनी गिरफ्त में ले रहा उत्तर कोरिया को, दो लाख नए केस

Mysterious Flu in North Korea : कोरोना महामारी के बीच उत्तर कोरिया में एक रहस्यमई बुखार से लाखों लोग पीड़ित बताया जा रहे हैं। आज रहस्यमई बुखार के 2 लाख से अधिक नए मामले सामने आए हैं।

Bishwa Maurya
Updated on: 21 May 2022 4:31 AM GMT
COVID19 In North Korea
X

COVID19 In North Korea (image Credit : Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

COVID19 In North Korea : कोरोना महामारी के दस्तक के बाद से एक बार फिर दुनिया के कई देश इस साल कोरोना के प्रकोप से गंभीर स्थिति में चल रहे हैं। जहां एक ओर कोरोनावायरस (coronavirus) का सबसे ज्यादा प्रकोप इस वक्त चीन (China) झेल रहा है, वहीं दूसरी ओर उत्तर कोरिया (North Korea) कोरोनावायरस के साथ एक रहस्यमई बुखार (Mysterious fever in North Korea) से जूझता नजर आ रहा है। आज लगातार पांचवें दिन उत्तर कोरिया में दो लाख से अधिक रहस्यमई बुखार से नए संक्रमित मरीज सामने आए हैं।

रहस्यमई बुखार का उत्तर कोरिया में प्रकोप

इस हफ्ते लगातार पांचवें दिन उत्तर कोरिया में रहस्यमई बुखार के कुल 2 लाख से अधिक नए मामले सामने आए हैं। इस हफ्ते मंगलवार से ही उत्तर कोरिया में दो लाख से अधिक मरीज प्रतिदिन सामने आ रहे हैं। मंगलवार को उत्तर कोरिया में 2,69,510 नए मरीज ऐसे सामने आए थे जो कोरोनावायरस के कुछ लक्षणों के साथ ही रहस्यमय बुखार से भी पीड़ित है। उत्तर कोरिया के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक अप्रैल के अंत तक देश में रहस्यमई बुखार के कारण कुल 56 मरीजों की मौत हुई थी, वहीं अप्रैल के अंत तक करीब डेढ़ करोड़ (15000000) लोग रहस्यमय बुखार से संक्रमित पाए जा चुके थे। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक वहां रहस्यमई बुखार से संक्रमित ज्यादातर लोग कोविड-19 (COVID19) से भी संक्रमित हैं।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुधवार के आंकड़े को देखें तो इस दिन 24 घंटे के भीतर 232880 लोग ऐसे सामने आए थे जो रहस्यमय बुखार और कोरोना संक्रमण से पीड़ित थे। इसी अवधि में देश में कुल 6 लोगों की मौत भी रहस्यमय बुखार के कारण हुई थी। किम जोंग उन ने देश में बिगड़ती हालात को लेकर वहां के अधिकारियों पर सुस्ती का आरोप लगाया है।

स्वास्थ्य व्यवस्था चरमराई

उत्तर कोरिया में लगातार एक लाख से अधिक रहस्यमई बुखार और पूर्ण करवाने के मामले रोजाना सामने आने से देश की कमजोर स्वास्थ्य व्यवस्था और ज्यादा चरमरा गई है। रिपोर्ट की मानें तो उत्तर कोरिया में बुखार और कोरोनावायरस की जाने वाली कई जरूरी दवाइयां अब खत्म होने के कगार पर हैं अस्पतालों में भर्ती मरीजों की भी सुचारू रूप से इलाज नहीं की जा पा रही है वहीं करीब सात लाख रहस्यमई बुखार से पीड़ित मरीज मौजूदा वक्त में होम आइसोलेशन में अपना इलाज करवा रहे हैं।

सुस्त टीकाकरण

दुनिया भर में कोरोनावायरस महामारी के दूसरे लहर के बाद से ही विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सभी देशों को वैक्सीनेशन पर बल देने के लिए कहा था। भारत समेत दुनिया के कई देशों में रिकॉर्ड स्तर की वैक्सीनेशन की जाने लगी मगर इन सब से इतर उत्तर कोरिया ने टीकाकरण के क्षेत्र में काफी ज्यादा लापरवाही बरती। इस लापरवाही का कारण यह है कि आज की स्थिति उत्तर कोरिया में कोरोनावायरस और रहस्यमई बुखार के कारण चिंताजनक बनी हुई हैं। करीब 2 करोड़ से अधिक लोगों की जिंदगी टीकाकरण नहीं होने के कारण दांव पर लगी हुई हैं। हालांकि किम जोंग उन ने हाल ही में हुए अपने बैठक के दौरान यह कहा है कि हम अपने दम पर जल्द ही इस महामारी से निपट सकते हैं।

चीन में कोरोना के हालात

कड़े लॉकडाउन के कारण बीते कुछ हफ्तों से चीन में कोरोनावायरस संक्रमण नियंत्रण में था, हालांकि 3 हफ्ते बाद एक बार फिर शंघाई में कोरोनावायरस का नया मामला सामने आया है। बता दें बीते 2 महीने में चीन ने कोरोनावायरस संक्रमण के कारण अब तक के सबसे बुरे हालात को देखा है। कोरोनावायरस के एपीसेंटर चीन में 2019 के बाद अब तक का सबसे चिंताजनक स्थिति चल रहा है जिसके कारण बड़े स्तर पर चीन को आर्थिक नुकसान का भी सामना करना पड़ रहा है। लंबे वक्त से चल रहे तक लॉक डाउन के कारण कई बड़ी कंपनियों ने अपना उत्पादन रोक दिया है, वहीं छोटी कंपनियों में ताला लगने की नौबत उत्पन्न हो गई है।

Bishwa Maurya

Bishwa Maurya

Next Story