×

North Korea News: उत्तर कोरिया ने फिर दागी मिसाइल, नए साल में दूसरी बार किया शक्ति प्रदर्शन

North Korea News: जापानी तटरक्षकों और दक्षिण कोरिया ने दावा किया है कि उत्तर कोरिया ने बुधवार को अपने पूर्वी तट से नये साल की पहली बैलिस्टिक मिसाइल दागने के छह दिन बाद ही दूसरी मिसाइल दाग दी है।

Ramkrishna Vajpei
Published on 11 Jan 2022 2:19 AM GMT
North Korea News: उत्तर कोरिया ने फिर दागी मिसाइल, नए साल में दूसरी बार किया शक्ति प्रदर्शन
X

(प्रतीकात्मक तस्वीर साभार- सोशल मीडिया) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

North Korea News: जापानी तटरक्षकों (Japanese Coast Guards) और दक्षिण कोरिया (South Korea) ने दावा किया है कि उत्तर कोरिया (North Korea) ने बुधवार को अपने पूर्वी तट से नये साल की पहली बैलिस्टिक मिसाइल (Ballistic Missile) दागने के छह दिन बाद ही दूसरी मिसाइल दाग दी है। इसके साथ ही तानाशाह किम जोंग उन (Kim Jong-un) ने सेना से सेना को और उन्नत बनाने का आह्वान किया है। उत्तर कोरिया ने बुधवार को साल 2022 की पहली मिसाइल दागी थी।

अधिकारियों का कहना है कि यह प्रक्षेपण अस्थिर अंतरराष्ट्रीय स्थिति का मुकाबला करने और सेना को मजबूत करने के लिए तानाशाह किम जोंग उन के नए साल के संकल्प को दर्शा रहा है। दूसरी मिसाइल के भी बैलिस्टिक होने की संभावना जताई जा रही है। आपको बता दें कि उत्तर कोरिया परमाणु शक्ति (Nuclear Power) संपन्न है।

जापान के तटरक्षक बल ने कहा कि यह एक बैलिस्टिक मिसाइल (Ballistic Missile) हो सकती है, हालांकि वह इस बारे में आश्वस्त नहीं थे। इससे पहले भी जापानी तटरक्षकों ने ही पहली मिसाइल दागे जाने की सूचना दी थी। इससे पहले जापानी प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा (Fumio Kishida) ने संवाददाताओं से कहा है कि पिछले साल से, उत्तर कोरिया का बार-बार मिसाइलें दागना बहुत खेदजनक है। दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ (Joint Chiefs of Staff) ने कहा था कि परमाणु हथियारों से लैस उत्तर कोरिया ने बिना उकसावे के पूर्वी तट से एक मिसाइल दागी है।

किम जोंग उन (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया)

सभी बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षणों पर प्रतिबंध

आपको बता दें कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (United Nations Security Council- UNSC) के प्रस्तावों ने उत्तर कोरिया के सभी बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षणों पर प्रतिबंध (Ballistic Missile Tests Banned) लगाया हुआ है और इसके साथ ही उसके हथियार संबंधी कार्यक्रमों पर भी प्रतिबंध है। बावजूद इसके तानाशाह अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। नए साल से पहले किम द्वारा दिए गए भाषण में उत्तर कोरियाई नेता ने मिसाइलों या परमाणु हथियारों का उल्लेख तो नहीं किया था लेकिन कहा था कि राष्ट्रीय रक्षा को मजबूत किया जाना चाहिए।

उत्तर कोरिया अपने परमाणु हथियार कार्यक्रम को लेकर अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों का सामना कर रहा है, लेकिन COVID-19 महामारी की शुरुआत के बाद वह अलग थलग हो गया है, इससे सीमा पर लॉकडाउन की स्थिति है। इसने उसके व्यापार को भी धीमा कर दिया है। यह अपनी सबसे बड़ी अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइलों (ICBM) या परमाणु हथियारों के परीक्षण पर स्व-लगाए गए स्थगन पर भी झटका है।

2017 में हुआ था परमाणु बम का अंतिम परीक्षण

ICBM या परमाणु बम का अंतिम परीक्षण 2017 में हुआ था, इससे पहले किम ने संयुक्त राज्य अमेरिका और दक्षिण कोरिया के लिए एक राजनयिक प्रस्ताव शुरू किया था, तब से ऐसे परीक्षण रुके हुए थे। लेकिन उत्तर कोरिया ने नई, कम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण जारी रखा है, जिसमें अक्टूबर में एक पनडुब्बी से लॉन्च की गई मिसाइल भी शामिल है।

सोमवार को एक नियमित समाचार ब्रीफिंग में, अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने क्षेत्र में संयुक्त राज्य अमेरिका और उसके सहयोगियों की सुरक्षा बढ़ाने के उद्देश्य से उत्तर कोरिया के साथ बातचीत के लिए यू.एस. की इच्छा दोहराई थी। उन्होंने कहा कि वाशिंगटन का उत्तर कोरिया के प्रति कोई शत्रुतापूर्ण इरादा नहीं था और वह बिना किसी पूर्व शर्त के बातचीत के लिए तैयार है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story