×

एक और AYLAN KURDI, सीरिया के इस रिफ्यूजी बच्चे की भी समंदर ने ली जान

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 30 May 2016 9:04 PM GMT

एक और AYLAN KURDI, सीरिया के इस रिफ्यूजी बच्चे की भी समंदर ने ली जान
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

रोमः सीरिया के एक और रिफ्यूजी बच्चे को अयलन कुर्दी की तरह समुंदर में डूबकर जान गंवानी पड़ी है। करीब सालभर की उम्र के इस बच्चे की तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है। यह बच्चा भी अयलन कुर्दी की तरह माइग्रेंट्स से भरी नाव में अपने घरवालों के साथ इटली आ रहा था। लीबिया के पास समुद्र में नाव डूब गई और मरने वालों में ये बच्चा भी शामिल हो गया।

कैसे हुआ था हादसा?

-शुक्रवार को सीरियाई माइग्रेंट्स की बोट इटली आ रही थी।

-लीबिया के पास समुद्र में बोट पलट गई और 50 से ज्यादा लोगों की जान चली गई।

-इटली की नौसेना ने बोट में सवार 562 लोगों को बचा लिया था।

-बच्चे की फोटो ह्यूमन राइट्स ऑर्गेनाइजेशन 'सी वॉच' ने जारी की है।

-इस बच्चे को रेस्क्यू टीम ने मार्टिन नाम दिया है।

पिछले साल अयलन कुर्दी की हुई थी मौत

-साल 2015 के सितंबर में अयलन कुर्दी नाम के बच्चे की भी ऐसे ही मौत हुई थी।

-वह अपने परिवार के साथ जिस नाव से आ रहा था, वह भी इटली के पास डूब गई थी।

-अयलन का समुद्र किनारे पड़ी लाश की फोटो देख दुनियाभर के देशों ने दुख जताया था।

कितने रिफ्यूजी गंवा चुके हैं जान?

-सीरिया के लोग आईएसआईएस की वजह से यूरोप भाग रहे हैं।

-अभी तक 8000 से ज्यादा ऐसे माइग्रेंट जान गंवा चुके हैं।

-आंकड़ों के अनुसार 3 लाख से ज्यादा नावों में अब तक लोग इटली पहुंच चुके हैं।

-अनुमान के मुताबिक लीबिया, सीरिया और इराक से लाखों लोग भाग चुके हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story