×

Israeli Palestinian War 2021 : गाजा में हमलों से सैकड़ों लोगों की मौत, एकमात्र कोविड लैब भी राख

इजरायल(Israel) और फिलिस्तीन(Palestine) के बीच जारी तनाव लगातार बढ़ता ही जा रहा है।

Network

NetworkNewstrack Network NetworkVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 19 May 2021 5:15 AM GMT

The ongoing tension between Israel and Palestine continues to grow
X

गाजा में हमले(फोटो-सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: बीते कई दिनों से इजरायल(Israel) और फिलिस्तीन(Palestine) के बीच जारी तनाव लगातार बढ़ता ही जा रहा है। ऐसे में हमास की तरफ से इजरायल पर रॉकेट दागे जा रहे हैं। दूसरी तरफ इजरायल की तरफ से एयरस्ट्राइक की जा रही है। यह सब फिलिस्तीन के दूसरे हिस्से मतलब गााजा में हो रहा है। इस ताबड़तोड़ हमले में इजरायल के एयरस्ट्राइक(Airstrike)में गाजा की एकमात्र कोरोना टेस्टिंग लैब भी तबाह हो गई।

इस बारे में गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि इस्लामिक समूह हमास के खिलाफ इजरायल की लड़ाई का प्रभाव आम लोगों की जिंदगी पर भी पड़ रहा है। साथ ही इजरायल की तरफ से रिहायशी इलाकों में हुई बमबारी में अभी तक 213 फिलिस्तीनियों की मौत हो चुकी है। जिसमें 61 बच्चे शामिल हैं। वहीं 1400 से अधिक लोग घायल हो गए हैं।

फिलिस्तीनियों पर संकट


ऐसे में यूनाइटेड नेशन (UN) ने इजरायल और फिलिस्तीन के बीच जारी हिंसा को मानवीय आपदा का नाम दिया है। इस बारे में यूएन का कहना है कि इजरायल के एयरस्ट्राइक के कारण अब तक 40 हजार फिलिस्तीनियों को इधर से उधर जाना पड़ा है और लगभग 2500 फिलिस्तीनियों को अपना घर खोना पड़ा है। लेकिन इस हिंसा का नुकसान केवल फिलिस्तीन को ही नहीं हुआ है।

इजरायल की तरफ से मरने वालों की संख्या अब बढ़कर 12 हो गई। यहां हमास ने दक्षिणी एशकोल क्षेत्र में रॉकेट दागे, जिसमें एक कारखाने में काम करने वाले दो थाई नागरिकों की मौके पर मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए। वहीं इससे पहले हमास के रॉकेट की चपेट में आकर केरल की एक भारतीय महिला की भी मौत हो गई थी। जो वहां नर्स थी।

जारी इन हमलों में इजरायल के एयरस्ट्राइक में गाजा की एकमात्र कोविड टेस्टिंग लैब तबाह हो गई है। इन हालातों में अब फिलिस्तीनियों की मुसीबत और बढ़ गई है। इस बीच गाजा में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं और यहां पॉजिटिविटी रेट लगभग 28 प्रतिशत है। वहीं कोरोना मरीजों का इलाज उन हॉस्पिटल में होता है, जिस पर 15 साल से इजरायल की नाकेबंदी है। इन हॉस्पिटलों में बड़ी संख्या में मरीज भरे हुए हैं।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story