×

Pakistan-Taliban News: पाकिस्तान ने तालिबान को बताया बड़ा खतरा, मंत्री को आई जिन्ना की याद

Pakistan-Taliban News: अफगानिस्तान पर कब्जा जमाने के बाद से लगातार तालिबान को अपना समर्थन देने वाले मुल्क पाकिस्तान ने अब तालिबान की कड़ी आलोचना की है। मंत्री ने तालिबान की चरमपंथी सोच को खतरा बताया है।

Shreya
Published on 29 Dec 2021 3:03 AM GMT
Pakistan-Taliban News: पाकिस्तान ने तालिबान को बताया बड़ा खतरा, मंत्री को आई जिन्ना की याद
X

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी (फोटो साभार- सोशल मीडिया)  

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Pakistan-Taliban News: तालिबान (Taliban) द्वारा अफगानिस्तान (Afghanistan) की सत्ता पर कब्जा किए जाने के बाद से लगातार पाकिस्तान (Pakistan) ने तालिबान को अलग अलग तरीकों से अपना समर्थन दिया। फिर चाहे वो बयानबाजी कर उसके समर्थन में बोलना हो या फिर तालिबान को हथियार और ट्रेनिंग देखर आगे बढ़ाना हो। लेकिन अब तालिबान और पाकिस्तान की दोस्ती (Pakistan Taliban Relations) में दरार पड़ती नजर आ रही है। इस बीच पाकिस्तान के सूचना मंत्री फवाद चौधरी (Fawad Chaudhry) ने तालिबान की चरमपंथी सोच को खतरा बताया है।

प्रधानमंत्री इमरान खान सरकार में मंत्री फवाद चौधरी (Fawad Chaudhry) ने जमकर तालिबान और उसके फैसलों की आलोचना की, जिसमें महिलाओं पर कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं। मंत्री का कहना है कि तालिबान की यह पिछड़ी चरमपंथी सोच हमारे लिए खतरा है। उन्होंने कहा हमें जिन्ना (Muhammad Ali Jinnah) का पाकिस्तान वापस चाहिए। फवाद चौधरी इस्लामाबाद के एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे, जहां उन्होंने यह बातें कही।

तालिबान की पुरानी सोच पाकिस्तान के लिए बड़ा खतरा

फवाद चौधरी ने कहा हम अफगानिस्तान की तो मदद करना चाहते हैं, लेकिन तालिबान की सोच चरमपंथी है, जिस वजह से महिलाओं पर कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं। जैसे कि महिलाएं स्कूल-कॉलेज नहीं जा सकतीं, अकेले सफर नहीं कर सकतीं। तालिबान की यह पुरानी सोच पाकिस्तान के लिए बड़ा खतरा है। पाकिस्तान की असली लड़ाई चरमपंथ के खिलाफ है। फवाद चौधरी ने जिन्ना का जिक्र करते हुए यह भी कहा कि मोहम्मद अली जिन्ना पाकिस्तान को एक इस्लामी मुल्क बनाना चाहते थे, वो मजहबी मुल्क बनाने के पक्षधर नहीं थे। जिन्ना बहुत मॉर्डन थे। आज उनके नाम पर कुछ लोग देश को पीछे ले जाना चाहते हैं। आज हमारे लिए कायद-ए-आजम का पाकिस्तान वापस पाना असली चुनौती है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story