Top

पाकिस्तान में दहशत, एयरफोर्स चीफ बोले- राफेल से जल्द हमला कर सकता है भारत

बता दें कि राफेल आ जाने से भारतीय वायुसेना की ताकत में जो इजाफा हुआ है, उससे पाकिस्तान और चीन दोनों ही देशों की नींद उड़ चुकी है। गत दिनों अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर  सेरेमनी में राफेल को औपचारिक रूप से इंडियन एयरफोर्स  में शामिल किया गया।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 12 Oct 2020 7:24 AM GMT

पाकिस्तान में दहशत, एयरफोर्स चीफ बोले- राफेल से जल्द हमला कर सकता है भारत
X
एवाई टिपणिस का कहना है कि यदि एयरफोर्स के पास फरवरी में बालाकोट हमले के दौरान राफेल होता तो भारत पाकिस्तान के कम से कम 12 एफ-16 विमानों को ढेर कर देता।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के लोग इस वक्त बहुत ही ज्यादा डरे हुए हैं। उन्हें रात दिन एक ही बात की चिंता सताए जा रही है कि भारत राफेल से उनके उपर हमला न बोल दें।

उनका ये डर वाजिब भी है। क्योंकि पाकिस्तानी एयर फोर्स चीफ मुजाहिद अनवर खान ने दावा किया कि फ्रांस से लिए अपने नए राफेल फाइटर जेट से भारत जल्द ही पकिस्तान पर हमला कर सकता है।

पाकिस्तान के एयरफोर्स चीफ ने अपने लोगों को चेतावनी दी है कि भारत टकराव को बढ़ाने के लिए एक आक्रामक सैन्य कार्रवाई की योजना बना रहा है। भारतीय फाइटर जेट 5 किलोमीटर के दायरे में आएंगे ताकि अपनी ताकत पकिस्तान को दिखा सके।

पाकिस्तान एयरफोर्स चीफ ने ये दावा एक कार्यक्रम में किया है। उन्होंने यह भी कहा कि भारत कश्मीर और अंतराष्ट्रीय सीमा से परे जाकर टकराव को बढ़ाना चाहता है।

इसके लिए भारत 18 से 24 महीने के अंदर कभी भी बड़ी आक्रामक कार्रवाई कर सकता है क्योंकि उस वक्त तक वह वह बड़ी संख्या में मेटेओर मिसाइल से लैस फाइटर जेट फ्रांस से प्राप्त कर लेगा।

पाकिस्तान एयरफोर्स चीफ ने ये भी कहा कि भारत 5 किमी के दायरे में आएगा और हवा में अपनी बादशाहत को दिखाने के लिए कई ठिकानों पर एकसाथ बमबारी करेगा। ऐसा करके वह टकराव को कश्मीर से बाहर बढ़ाना चाहता है।

Imran Khan पाकिस्तान के पीएम इमरान खान की फोटो(सोशल मीडिया)

यह भी पढ़ें: मल्हनी के उप चुनाव में दोनों राष्ट्रीय दलों की स्थिति बिन दूल्हा बाराती जैसी आ रही नजर

राफेल का मुकाबला करना पाकिस्तान और चीन के लिए नहीं हैं आसान

बता दें कि राफेल आ जाने से भारतीय वायुसेना की ताकत में जो इजाफा हुआ है, उससे पाकिस्तान और चीन दोनों ही देशों की नींद उड़ चुकी है। गत दिनों अंबाला एयरफोर्स स्टेशन पर सेरेमनी में राफेल को औपचारिक रूप से इंडियन एयरफोर्स में शामिल किया गया।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लोरेंस पार्ले के सामने 17 स्कवॉड्रन 'गोल्डन ऐरोज़' के पायलट्स ने करतब दिखाए।

अंबाला के आसमान पर बड़ी आसानी से मैनूवर्स करते राफेल लड़ाकू विमानों को देखकर चीन और पाकिस्तान के होश उड़ गये। दोनों का डर लगातार बढ़ता ही जा रहा है।

उन्हें पता है कि राफेल को भारत की जरूरतों के हिसाब से तैयार किया गया है। राफेल की रेंज 3,700 किलोमीटर तक है, यह अपने साथ चार मिसाइल लाने और ले जाने में सक्षम है।

राफेल की लंबाई 15.30 मीटर और ऊंचाई 5.30 मीटर है। राफेल का विंगस्पैन सिर्फ 10.90 मीटर है जो इसे पहाड़ी इलाकों में उड़ने में मदद करता है। विमान छोटा होने से उसकी मैनुवरिंग में आसानी हो जाती है।

Rajnath Singh रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की फोटो(सोशल मीडिया)

यह भी पढ़ें: मुंह पर अंगोछा-पैरों में हवाई चप्पल पहनकर जांच करने मंडी पहुंचे डीएम, आगे हुआ ये

एक राफेल जेट को रोकने क‍ि लिए दो एफ-16 की जरूरत

इस बारें में इंडियन एयरफोर्स के पूर्व चीफ एवाई टिपणिस का कहना है कि यदि एयरफोर्स के पास फरवरी में बालाकोट हमले के दौरान राफेल होता तो भारत पाकिस्तान के कम से कम 12 एफ-16 विमानों को ढेर कर देता।

यही नहीं उसे बालाकोट में एयर स्ट्राइक करने के लिए पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र में प्रवेश करने की भी आवश्यकता नहीं पड़ती।

पाकिस्तान की चिंता इस बात को लेकर भी है कि अब उसे एक राफेल फाइटर जेट को रोकने को लिए अपने दो एफ-16 लड़ाकू विमान उतारने पड़ेंगे। भारत को एक एफ-16 रोकने के लिए दो सुखोई-30 एमकेआई विमान तैनात करने पड़ते हैं।

यह भी पढ़ें: 20 साधुओं की हत्या: हकीकत जान दंग रह जाएगा देश, यूपी में लिस्ट जारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App

Newstrack

Newstrack

Next Story