पायलट की इस गलती से अचानक समुद्र में समा गया विमान

बोइंग का एक विमान लैंड करने से ठीक पहले रनवे से महज 1500 फीट दूरी पर समुद्र में डूब गया। पपुआ न्यू गिनी एक्सीडेंट इन्वेस्टिगेशन कमिशन ने अपनी फाइनल रिपोर्ट में कहा है कि विमान के ऑटोमेटिक सिस्टम ने बार-बार चेतावनी दी थी, लेकिन पायलट ने उसे खारिज कर दिया। इसी वजह से हादसा हुआ।

नई दिल्ली: बोइंग का एक विमान लैंड करने से ठीक पहले रनवे से महज 1500 फीट दूरी पर समुद्र में डूब गया। पपुआ न्यू गिनी एक्सीडेंट इन्वेस्टिगेशन कमिशन ने अपनी फाइनल रिपोर्ट में कहा है कि विमान के ऑटोमेटिक सिस्टम ने बार-बार चेतावनी दी थी, लेकिन पायलट ने उसे खारिज कर दिया। इसी वजह से हादसा हुआ।

रिपोर्ट में कहा गया है कि विमान के सिस्टम ने चेतावनी दी थी। वॉयस और लाइट के जरिए मैसेज दिया गया था। हादसे के वक्त कॉकपिट में रिकॉर्ड किया गया एक वीडियो भी जारी किया गया है। को-पायलट को यह कहते सुना जा सकता है- हम बहुत नीचे हैं, हम बहुत नीचे हैं!

विमान के समुद्र में डूबने के बाद 34 लोगों की जान बचा लगी गई थी, जबकि एक व्यक्ति की मौत हो गई थी। रनवे के पास हादसा होने की वजह से कई नावें तुरंत विमान के पास पहुंच गई थीं। यूएस नेवी ने ज्यादातर लोगों को रेस्क्यू कर लिया था।

जांच रिपोर्ट में पायलट का नाम नहीं दिया गया है, लेकिन बताया गया है कि उन्होंने कई चेतावनी मैसेज को नकार दिया। जबकि वार्निंग लाइट के जरिए उन्हें मैसेज मिल चुका था और विमान को ऊपर करने को कहा जा रहा था।