×

Mehul Choksi की बढ़ी मुश्किलें, डोमिनिका सरकार ने घोषित किया अवैध अप्रवासी

Mehul Choksi: डोमिनिका सरकार ने मेहुल चोकसी को अवैध अप्रवासी घोषित कर दिया है। जिसके बाद उसके भारत आने का रास्ता साफ होता दिख र

Network
Newstrack NetworkPublished By Shreya
Updated on: 10 Jun 2021 9:27 AM GMT
Mehul Choksi की बढ़ी मुश्किलें, डोमिनिका सरकार ने घोषित किया अवैध अप्रवासी
X

मेहुल चोकसी (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Mehul Choksi: पंजाब नेशनल बैंक घोटाले (PNB Scam) में मुख्य आरोपी और भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) को डोमिनिका की सरकार (Dominica Government) ने बहुत बड़ा झटका दिया है। डोमिनिका की ओर से चोकसी को अवैध अप्रवासी (Illegal Immigrant) घोषित कर दिया गया है। जिसके बाद चोकसी के भारत आने का रास्ता साफ माना जा रहा है।

इसके साथ ही डोमिनिका के राष्ट्रीय सुरक्षा और गृह मामलों के मंत्री (Dominica's National Security & Home Affairs Minister) रेबर्न ब्लैकमूर ने पुलिस प्रमुख को आदेश जारी कर चोकसी को देश से बाहर करने को लेकर जल्द से जल्द कदम उठाने की बात कही है।

डोमिनिका ने की जल्द भारत भेजने की अपील

मिली जानकारी के मुताबिक, डोमिनिका प्रशासन ने इस आदेश को अदालत के सामने रखा। डोमिनिका सरकार की ओर यह अपील भी की गई है कि मेहुल चोकसी की याचिकाएं खारिज कर उसे भारत भेज दिया जाए। इस आदेश को मेहुल के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है।

मेहुल चोकसी (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

बीते दिनों डोमिनिका में गिरफ्तार हुआ था मेहुल

आपको बता दें कि मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) इस समय डोमिनिका (Dominica Police) की गिरफ्त में है। उसे बीते दिनों डोमिनिका (Dominica) में पकड़ा गया था। दरअसल, वो अवैध रूप से डोमिनिका में घुसने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। उससे पहले एंटीगुआ (Antigua) से वो फरार चल रहा था। बाद में वह क्यूबा भागते वक्त रास्ते में ही डोमिनिका में पकड़ा गया।

गौरतलब है कि हाल ही में मेहुल चोकसी की ओर से कथित अपहरण का दावा भी किया गया था। जिसकी जांच एंटीगुआ की रॉयल पुलिस फोर्स और बारबुडा पुलिस कर रही है। दूसरी ओर भारतीय खुफिया सूत्रों का कहना है कि मेहुल जानता था कि उसे एंटीगुआ के प्रधानमंत्री भारत भेज देंगे। इसीलिए उसने अपने अपहरण की साजिश रची।

भारत आने का रास्ता साफ

इससे पहले डोमिनिका की एक अदालत ने मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण पर रोक लगा दी थी, लेकिन अब डोमिनिका सरकार के इस आदेश के बाद मेहुल के भारत आने का रास्ता साफ नजर आ रहा है।

आपको बता दें कि मेहुल चोकसी बीते रविवार यानी 23 मई से ही एंटीगुआ से फरार चल रहा था। उसे क्यूबा जाते वक्त बीते गुरुवार को डोमिनिका में ट्रेस किया गया तो वहां की पुलिस ने उसे तुरंत हिरासत में ले लिया। दरअसल, भारत सरकार लगातार मेहुल की एंटीगुआ नागरिकता को निरस्त करने की मांग कर रही थी, ऐसे में चोकसी ने अपना ठिकाना बदलना ही सबसे अच्छा विकल्प समझा।

वैसे बताते चलें कि मेहुल चोकसी ने एक साथ कई कैरेबियाई देशों की नागरिकता ले रखी है, इसीलिए वो हर बार भागने में कामयाब हो जाता है। यहीं वजह रही कि वो एंटीगुआ से भी आसानी से फरार हो पाया।

मेहुल चोकसी-नीरव मोदी (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया)

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, भारत से फरार हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) पंजाब नेशनल बैंक घोटाले (PNB Scam) के मुख्य आरोपी नीरव मोदी का मामा है। साथ ही पीएनबी के साथ कथित तौर पर 13,500 करोड़ रुपये की कर्ज जालसाजी मामले में वो खुद भी वांछित है। चोकसी को भारत लाने के लिए देश की जांच एजेंसी सीबीआई (CBI) और ईडी (ED) की टीम प्रयत्नशील हैं।

बता दें कि चोकसी के खिलाफ इंटरपोल ने भी रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया हुआ है। इंटरपोल की ओर से लापता लोगों की तलाश के लिए यलो नोटिस जारी किया जाता है। मेहुल चोकसी भारत से भागने के बाद एंटीगुआ और बारबुडा में रह रहा है। उसने यहां की नागरिकता भी प्राप्त कर ली है। वहीं दूसरी ओर नीरव मोदी अभी लंदन की एक जेल में है और अपने प्रत्यर्पण के खिलाफ मुकदमा लड़ रहा है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story