×

PNB Scam: आखिरकार पकड़ा गया भगोड़ा मेहुल चोकसी, जल्द भेजा जाएगा भारत

PNB Scam: भगोड़े कारोबारी मेहुल चोकसी को डोमिनिका पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और उसे जल्द भारत को सौंपा जा सकता है।

Network
Published on 27 May 2021 1:41 AM GMT
PNB Scam: आखिरकार पकड़ा गया भगोड़ा मेहुल चोकसी, जल्द भेजा जाएगा भारत
X

मेहुल चोकसी (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

PNB Scam: पंजाब नेशनल बैंक घोटाले (PNB Scam) में मुख्य आरोपी और भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) आकिरकार गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे डोमिनिका (Dominica) में पकड़ा गया है। इस बात की जानकारी स्थानीय मीडिया ने दी है। डोमिनिका पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की है और अब उसे एंटीगुआ पुलिस को जल्द ही सौंपा जा सकता है।

बता दें कि बीते दिनों खबरें आई थीं कि मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) एंटीगुआ से गायब हो चुका है और उसने अपना ठिकाना बदल दिया है। इसके बाद उसे डोमिनिका में ट्रेस किया गया, जहां की पुलिस ने उसे अपनी हिरासत में लेकर पूछताछ की है। पुलिस की ओर से प्रशासन से भी संपर्क साधा गया है। अब उसे जल्द ही एंटीगुआ पुलिस को सौंपा जा सकता है।

CID की गिरफ्त में है चोकसी

बताया जा रहा है कि भारत से फरार आरोपी मेहुल चोकसी डोमिनिका में क्रिमिनल इन्वेस्टीगेशन डिपार्टमेंट (सीआईडी) की गिरफ्त में है। उसके खिलाफ इंटरपोल ने 'यलो नोटिस' जारी किया था। जिसके बाद वहीं डोमिनिका में पुलिस ने स्थानीय समयानुसार मंगलवार की रात में चोकसी को हिरासत में ले लिया। गिरफ्त में लेने के बाद चोकसी से कई घंटों तक पूछताछ करने के बाद पुलिस उसे वापस एंटीगुआ भेजने के लिए डिप्लोमेटिक तरीके से बातचीत में जुट गई है।

मेहुल चोकसी (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

चोकसी को वापस नहीं लिया जाएगा एंटीगुआ

वहीं, एंटीगुआ को सौंपे जाने की खबरों के बीच एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउने ने कहा कि हम मेहुल चोकसी को वापस नहीं लेंगे। उसने यहां से फरार होकर बड़ी गलती की है। हमने डोमिनिकल सरकार से अवैध रूप से अपने देश में प्रवेश करने के लिए चोकसी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए कहा है। साथ ही उसे अवांछित व्यक्ति बताकर सीधे भारत भेज दिया जाए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चोकसी एंटीगुआ और बारबुडा की नागरिकता लेने के बाद साल 2018 से ही यहां रह रहा था।

प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउने ने यह भी कहा कि डोमिनिकल सरकार और वहां के कानूनी अधिकारी हमसे सहयोग कर रहे हैं। हमने इस बारे में भारत सरकार को भी सूचित कर दिया है, ताकि उसे भारत को प्रत्यर्पित किया जा सके। एंटीगुआ के पीएम ने कहा कि मेहुल चोकसी शायद नाव के जरिए डोमिनिका पहुंचा था। वहां की सरकार भारत से भी सहयोग कर रही है। उन्होंने बताया कि डोमिनिका सरकार उसे सीधे भारत भेज सकती है।

23 मई को हुआ था फरार

आपको बता दें कि मेहुल चोकसी बीते रविवार यानी 23 मई से ही एंटीगुआ से फरार चल रहा था। उसे आखिरी बार अपने घर से कार से निकलते हुए देखा गया था। जब उसके फरार होने की खबर आई तो कयास लगाए जा रहे थे कि चोकसी क्यूबा जा सकता है। क्योंकि क्यूबा में उसका अपना एक आलीशान घर भी है। लेकिन जब गुरुवार को उसे डोमिनिका में ट्रेस किया गया तो वहां की पुलिस ने उसे तुरंत हिरासत में ले लिया।

दरअसल, भारत सरकार लगातार मेहुल की एंटीगुआ नागरिकता को निरस्त करने की मांग कर रही थी, ऐसे में चोकसी ने अपना ठिकाना बदलना ही सबसे अच्छा विकल्प समझा। वैसे बता दें कि मेहुल चोकसी ने एक साथ कई कैरेबियाई देशों की नागरिकता ले रखी है, इसीलिए वो हर बार भागने में कामयाब हो जाता है। यहीं वजह रही कि वो एंटीगुआ से भी आसानी से फरार हो पाया।

मेहुल चोकसी-नीरव मोदी (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया)

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, भारत से फरार हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) पंजाब नेशनल बैंक घोटाले (PNB Scam) के मुख्य आरोपी नीरव मोदी का मामा है। साथ ही पीएनबी के साथ कथित तौर पर 13,500 करोड़ रुपये की कर्ज जालसाजी मामले में वो खुद भी वांछित है। चोकसी को भारत लाने के लिए देश की जांच एजेंसी सीबीआई (CBI) और ईडी (ED) की टीम प्रयत्नशील हैं। बता दें कि चोकसी के खिलाफ इंटरपोल ने भी रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया हुआ है। इंटरपोल की ओर से लापता लोगों की तलाश के लिए यलो नोटिस जारी किया जाता है।

मेहुल चोकसी भारत से भागने के बाद एंटीगुआ और बारबुडा में रह रहा है। उसने यहां की नागरिकता भी प्राप्त कर ली है। हालांकि मार्च में ऐसी खबरें थीं कि उसकी नागरिकता को एंटीगुआ और बारबुडा द्वारा रद्द कर दिया गया है। लेकिन बाद में चोकसी के वकील विजय अग्रवाल ने साफ किया था कि चोकसी एंटीगुआ के नागरिक हैं। उनकी नागरिकता को रद्द नहीं किया गया है।

Shreya

Shreya

Next Story