डेमोक्रेट्स ने ट्रंप ने रूसी जांच प्रभावित न करने की चेतावनी दी

वाशिंगटन : डेमोक्रेटिक पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को चेताते हुए कहा है कि वह 2016 राष्ट्रपति चुनाव में रूस की कथित भागीदारी की जांच कर रहे विशेष अधिवक्ता को बर्खास्त करने के लिए एक विवादित मेमो को ‘बहाने’ के रूप में इस्तेमाल नहीं करें। डेमोक्रेट्स ने कहा कि इस तरह का मेमो जारी करना एफबीआई की प्रतिष्ठा और चुनाव में रूसी हस्तक्षेप को धूमिल करने का शर्मनाक प्रयास है।

बीबीसी के मुताबिक, उन्होंने चेतावनी दी कि इस तरह की गतिविधियों से संवैधानिक संकट बढ़ सकता है।

रिपब्लिकन सीनेटर्स द्वारा तैयार किए गए इस मेमो में एफबीआई पर शक्तियों का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया गया है।

ट्रंप ने शुक्रवार को इस खुफिया मेमो को जारी करने की मंजूरी देते हुए कहा था कि इससे ‘एक शर्मनाक कहानी का खुलासा हुआ है’।

ये भी देखें : इंटरव्यू : दुनिया में बहुत लोग मेरे ट्वीट का इंतजार करते हैं : ट्रंप

मेमो ट्रंप के चुनाव प्रचार के पूर्व सलाहकार कार्टर पेज की अदालत द्वारा मंजूर वायरटेपिंग पर केंद्रित है।

मेमो में एफबीआई और न्याय विभाग पर अक्टूबर 2016 के वारंट को हासिल करने के लिए अप्रमाणित साक्ष्य का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया गया है।

बीबीसी के मुताबिक, मेमो में कहा गया है कि एफबीआई ने प्रशासन को यह नहीं बताया कि यह वारंट हिलेरी क्लिंटन की प्रचार समिति द्वारा उपलब्ध कराए गए एक डोजियर पर आधारित था।

डेमोक्रेट्स का कहना है कि ट्रंप के प्रचार अभियान और रूस के बीच कथित संबंधों की जांच को बाधित करने के उद्देश्य से यह मेमो जारी किया गया है।

गौरतलब है कि ट्रंप इस बात से हमेशा इनकार करते रहे हैं और उन्होंने मई 2017 में एफबीआई के पूर्व निदेशक जेम्स कॉमे को बर्खास्त कर दिया था।

कॉमे ने शुक्रवार को ट्वीट कर इस मेमो को भ्रामक बताया था।