बंद हुई जांच! जूलियन असांजे को बड़ी राहत, पढ़ें पूरा मामला

बताते चलें कि जूलियन असांजे फिलहाल ब्रिटेन की जेल में बंद हैं। इसके साथ ही सोमवार को यह जानकारी लोगों के सामने आई थी कि 2010 में जूलियन असांजे के खिलाफ रेप के आरोप में स्वीडन नई जानकारी मुहैया कराएगा।

नई दिल्ली: विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे को बड़ी राहत मिली है। मामला रेप से जुड़ा हुआ है। स्वीडन के एक अभियोजक ने कहा कि जूलियन असांजे के खिलाफ बलात्कार के आरोप की जांच को रोक दिया गया है।

बताते चलें कि जूलियन असांजे फिलहाल ब्रिटेन की जेल में बंद हैं। इसके साथ ही सोमवार को यह जानकारी लोगों के सामने आई थी कि 2010 में जूलियन असांजे के खिलाफ रेप के आरोप में स्वीडन नई जानकारी मुहैया कराएगा। जिसके बाद आज असांजे के खिलाफ रेप मामले की जांच को बंद करने की जानकारी सामने आई है।

गौरतलब है कि इससे पहले ब्रिटिश गृह सचिव ने जूलियन असांजे को अमेरिका भेजने के लिए प्रत्यर्पण आदेश पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। ब्रिटेन के गृह सचिव साजिद जाविद के असांजे के प्रत्यर्पण आदेश पर हस्ताक्षर करने के बाद अब उनका अमेरिका प्रत्यर्पण लगभग साफ हो गया है।

इसके साथ ही आपको बता दें कि अदालत की कार्यवाही के बाद 47 साल के असांजे को अमेरिका प्रत्यर्पित किया जा सकता है।

यह है मुख्य आरोप…

असांजे पर अमेरिकी कंप्यूटर्स को हैक करने और वहां के कानून को तोड़ने का आरोप है। अमेरिका ने उनपर सैन्य और राजनयिक सूत्रों के नाम उजागर करने वाले गोपनीय दस्तावेज को प्रकाशित कर जासूसी कानून का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है।

अधिक जानकारी के लिए बता दें कि सेना और कूटनीति से जुड़े हुए दस्तावेज रिलीज करने के आरोप में अमेरिका उनके प्रत्‍यार्पण की कोशिशों में था, जिसे अब सफलता मिल गई है।

खुलासों के बाद 2012 से अंसाजे ने इक्‍वाडोर दूतावास में शरण ली थी। असांजे को ब्रिटेन स्थित इक्वाडोर के दूतावास से अप्रैल में गिरफ्तार किया गया था। ब्रिटेन में जमानत के दौरान फरार होने के सिलसिले में वह 50 हफ्ते की सजा काट रहे हैं। वह अमेरिका प्रत्यर्पित किए जाने के खिलाफ भी मुकदमा लड़ रहे हैं।