श्रीलंका ब्लास्ट: तीन भारतीयों समेत 215 की मौत, सैकड़ों घायल, 7 गिरफ्तार

ईस्टर के मौके पर श्रीलंका की राजधानी कोलंबो और देश के कई इलाकों में 6 बम धमाके हुए हैं। धमाका श्रीलंका के तीन चर्च और तीन पांच सितारा होटल में हुआ है। इस धमाके में 215 लोगों की मौत हो गई, जबकि 500 लोग घायल हैं। मरने वालों में 35 विदेशी नागरिक भी घायल हैं।

कोलंबो:  ईस्टर के मौके पर श्रीलंका की राजधानी कोलंबो और देश के कई इलाकों में 8 बम धमाके हुए हैं। धमाका श्रीलंका के तीन चर्च और 4 होटल में हुआ है। इस धमाके में 215 लोगों की मौत हो गई, जबकि 500ज्यादा लोग घायल हैं। मरने वालों में  35 विदेशी नागरिक भी घायल हैं।

पहला धमाका कोलंबो में सैंट एंटनी चर्च और दूसरा धमाका राजधानी के बाहर नेगोम्बो कस्बे के सेबेस्टियन चर्च में हुआ। वहीं तीसरा धमाका पूर्वी शहर बाट्टिकालोआ के चर्च में हुआ। इसके अलावा जिन होटलों को निशाना बनाया गया है, उनमें द शांगरीला, द सिनामॉन ग्रैंड और द किग्सबरी शामिल हैं।

पुलिस ने बताया कि कोलंबो में सेंट एंथनी चर्च, नौगोंबो में सेंट सेबेस्टियन चर्च और बट्टिकलोबा में एक चर्च को निशाना बनाया गया। इसके अलावा होटल शांग्री-ला, सिनामोन ग्रैंड और किंग्सबरी में भी धमाका हुआ है।

श्रीलंका में आत्मघाती हमले की चेतावनी वहां के पुलिस प्रमुख ने पहले ही दी थी। इस बात का खुलासा डॉक्युमेंट्स से हुआ है।

Updates…

श्रीलंका में कर्फ्यू लगा दिया गया है जो अगले आदेश तक जारी रहेगा। साथ ही सुरक्षा बलों को अगले 10 दिनों तक हाई अलर्ट पर रहने का आदेश दिया गया है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई है।

सुरक्षा अधिकारी के मुताबिक उन्हें संदेह है कि आत्मघाती हमलावर द्वारा दो चर्चों में विस्फोट किया गया है। अधिकारियों के अनुसार, मारे गए लोगों में 35 विदेशी नागरिक शामिल हैं, लेकिन फिलहाल उनकी नागरिकता का पता नहीं चल पाया है। मामले में सात आरोपियों की गिरफ्तारी की बात सामने आई है।

श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघेने कहा कि मैं आज हमारे लोगों पर कायरतापूर्ण हमलों की कड़ी निंदा करता हूं। मैं इस दुखद समय में सभी श्रीलंकाई लोगों को एकजुट और मजबूत रहने का आह्वान करता हूं। सरकार इस स्थिति को रोकने के लिए तत्काल कदम उठा रही है। कृपया अटकलों के प्रचार से बचें।

इस बीच श्रीलंका के रक्षा मंत्री ने बम धमाकों से जुड़े 7 संदिग्धों को गिरफ्तार किए जाने की जानकारी दी है। करीब 2.15 करोड़ की आबादी वाले द्विपीय देश के उप-परिवहन मंत्री ने भी धमाकों में अब तक 207 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है।

श्रीलंका सरकार ने धमाकों के बाद देश में अस्थायी तौर पर सोशिल मीडिया और मैसेजिंग सर्विस पर बैन लगा दिया है।

श्रीलंका में 8 वीं बार सीरियल ब्लास्ट हुआ है। सरकार ने धमाकों को देखते हुए पूरे देश में सोमवार तक कर्फ्यू लगा दिया है। यह कर्फ्यू शाम 6 से लेकर सुबह 6 बजे तक रहेगा।

श्रीलंका में धमाके पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शोक जताया है। उन्होंने कहा कि इस आंतकवादी घटना की निंदा करता हूं।

ब्रिटेन की पीएम थेरेसा मे ने कहा, ‘श्रीलंका के होटल और चर्च पर हुए हमले डरानेवाले हैं। इस घटना का शिकार हुए लोगों के साथ मेरी सहानुभूति है। इसके खिलाफ हम सबको एकजुट होकर खड़े होना चाहिए ताकि कोई भी अपने धर्म से जुड़े कार्य करते वक्त डर में न रहे।’

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी ट्वीट कर इस हमले को लेकर दुख जताया है। इमरान ने कहा, ‘ईस्टर रविवार के दिन श्रीलंका में हुए भयानक आतंकी हमले की कड़ी निंदा करता हूं। श्रीलंका के भाइयों को हमारी संवेदनाएं। दुख की इस घड़ी में पाकिस्तान श्रीलंका के साथ खड़ा है।’

मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलीह ने कहा, ‘आज सुबह श्रीलंका में हुए हमले की खबर से सदमे में हूं। इस भयानक हमले मारे गए लोगों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं। दुख की इस घड़ी में हम श्रीलंका के लोगों के साथ खड़े हैं और आतंक के खिलाफ लड़ाई में उनका समर्थन करेंगे।’

श्रीलंका में सीरियल धामकों के बाद एक बार फिर धमाका हुआ है। इसमें दोलों के मरने की खबर है। इसके साथ ही मरने वाले लोगों की संख्या 158 हो गई है।

 अरविंद केजरीवाल ने जताया दुख

राष्ट्रपति कोविंद ने की निंदा

-राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने श्रीलंका में हुए धमाकों पर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि सभ्य समाज में इस तरह की हिंसा की कोई जगह नहीं, ऐसी घड़ी में भारत श्रीलंका के साथ खड़ा है।

पीएम मोदी ने जताया दुख

-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीलंका में हुए सीरियल ब्लास्ट की कड़ी निंदा की है। पीएम ने ट्वीट कर कहा, ‘हमारे क्षेत्र में इस तरह की बर्बरता की कोई जगह नहीं है। भारत श्रीलंका के लोगों के साथ पूरी तरह से खड़ा है। मृतकों के परिजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं और घायलों के जल्द ठीक होने की कामना करता हूं।’

ये भी देखें:UPSEE प्रवेश परीक्षा आज, छात्र रखे इन बातों का ध्यान

धमाके में मृतकों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इस बीच प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने आपात बैठक बुलाई है। श्रीलंका के इकोनॉमिक रिफॉर्म्स एंड पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन मिनिस्टर हर्षा डिसिल्वा ने कहा कि भयानक दृश्य। आपातकालीन दल पूरी ताकत से सभी स्थानों पर हैं। हम कई घायलों को अस्पताल ले गए।

श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। साथ ही उन्होंने लोगों से जांच में सहयोग करने की भी अपील की। राष्ट्रपति ने अधिकारियों को जांच करने और हमलावरों को खोजने का आदेश दिया है।

इन धमाकों के पीछे किसका हाथ है, फिलहाल इसका पता नहीं चल सका है। खबरों की मानें तो इन धमाकों के पीछे इस्लामिक चरमपंथी संगठनों का हाथ हो सकता है। फिलहाल खबर के विस्तृत विवरण की प्रतीक्षा है।

ये भी देखें:श्रीलंका में सीरियल ब्लास्ट, 25 की मौत, 150 से ज्यादा घायल