Top

चीन और तुर्की में छिड़ी जंग, जानिए क्या है वजह

चीन और तुर्की के बीच तनाव नजर आ रहा है। बताया जा रहा है कि उइगर मुसलमानों को लेकर दोनों देशों में तनाव बना..

Shweta

ShwetaBy Shweta

Published on 7 April 2021 4:04 PM GMT

चीन और तुर्की में छिड़ी जंग, जानिए क्या है वजह
X

चीन और तुर्की(सोशल मीडिया) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्लीः चीन और तुर्की के बीच तनाव नजर आ रहा है। बताया जा रहा है कि उइगर मुसलमानों को लेकर दोनों देशों में तनाव बना हुआ है। हाल ही में चीनी दूतावास ने सोशल मीडिया पर ट्विट कर कहा कि तुर्की के उन दो नेताओं के खिलाफ कार्रवाई हो।

तुर्की के विदेश मंत्रालय ने क्या कहाः

बता दें कि तुर्की के विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि चीनी दूतावास के राजदूत को मंगलवार के दिन बुलाया गया। फिलहाल इससे ज्यादा कोई जानकारी नहीं दी।

ट्विटर पर मचा घमासानः

चीनी दूतावास ने तुर्की की विपक्षी गुड पार्टी के नेता मेरल अक्सनर और तुर्की की राजधानी अंकारा के मेजर मंसूर यूवास को सोशल अकाउंट पर टैग किया और वही बीजिंग का बचाव किया। वहीं चीनी दूतावास का कहना है कि चीन का अपना अधिकार है कि वो क्या करता है। चीन के इस बयान के बाद तुर्की के दोनों नेता डर हुए है। जिसके कारण तुर्की में सोशल मीडिया पर घमासान मच गया है।

इससे पहले भी कर चुके है यह दोनों नेता चीने के खिलाफ ट्वीटः

गौरतलब है कि तुर्की के यह दोनों नेताओं ने साल 1990 में चीन में उइगर मुसलमानों की हत्या को लेकर एक पोस्ट शेयर किया था। जिसके बाद चीनी दूतावास ने पलटकर इन दोनों को टैग करते हुए पलटवार में ट्वीट किया था जिसमें चीनी दूतावास ने कहा कि जो भी चीन की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को चुनौती देता है तो चीन उसका दृढ़ता से मुकाबला करेगा,उसकी निंदा करेगा

क्या कहा तुर्की नेः

बता दें कि तुर्की ने कहना था कि वह चीन की सुंप्रुभता का सम्मान करता है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय चीनी प्रशासन से ये उम्मीद करते हैं कि शिनजियांग के उइगर तुर्क और अन्य मुस्लिम अल्पसंख्यक, चीन के बाकी नागरिकों की तरह शांतिपूर्वक ढंग से रह सकें और उनकी सांस्कृतिक और धार्मिक पहचान का सम्मान हो। चीनी प्रशासन उनके अधिकारों की सुरक्षा सुनिश्चित करे। बता दें कि चीन के शिंजियांग में तुर्की के मुसलमान रहते हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shweta

Shweta

Next Story