×

Arms Sale Approval: ईरान से निपटने के लिए अमेरिका ने सऊदी अरब और यूएई को हथियारों से लैस किया

Arms Sale Approval: बिडेन प्रशासन ने सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात को बड़े पैमाने पर हथियारों की बिक्री को मंजूरी (arms sale approval) दी है।

Neel Mani Lal
Written By Neel Mani Lal
Updated on: 3 Aug 2022 12:40 PM GMT
US armed Saudi Arabia and UAE to deal with Iran
X

ईरान से निपटने के लिए अमेरिका ने सऊदी अरब और यूएई को लैस किया: Photo- Social Media

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Arms Sale Approval: ईरान को काउंटर करने के लिए अमेरिका (America) ने सऊदी अरब और यूएई (UAE) को से लादने की योजना मंजूर की है। इससे क्षेत्र में हथियार की नई होड़ शुरू होने का अंदेशा है। बिडेन प्रशासन ने सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात को बड़े पैमाने पर हथियारों की बिक्री को मंजूरी (arms sale approval) दी है। पिछले महीने राष्ट्रपति जो बिडेन (President Joe Biden) की मध्य पूर्व की यात्रा के बाद मिसाइल डिफेंस और संबंधित सामग्री की बिक्री के लिए 5 बिलियन डॉलर से अधिक का करार हुआ है। सऊदी अरब और यूएई, दोनों हाल के महीनों में यमन में ईरान समर्थित हौथी विद्रोही आंदोलन के रॉकेट हमलों से प्रभावित हुए हैं।

रक्षात्मक हथियारों के लिए मंजूरी

हालांकि बिडेन प्रशासन की ये मंजूरी रक्षात्मक हथियारों के लिए है लेकिन उन सांसदों द्वारा इस पर आपत्ति की जा सकती है जिन्होंने यमन में युद्ध में उनकी भागीदारी के चलते पिछले साल सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात को आक्रामक अमेरिकी हथियारों की प्रमुख खरीद से काटने के लिए बिडेन के फैसले का समर्थन किया था।

नई बिक्री में सऊदी अरब के लिए पैट्रियट मिसाइलों के लिए 3 बिलियन डॉलर शामिल हैं, जो विशेष रूप से हौथी लड़ाकों द्वारा रॉकेट हमलों से खुद को बचाने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं, और संयुक्त अरब अमीरात के लिए उच्च ऊंचाई वाली मिसाइल रक्षा के लिए 2.2 बिलियन डॉलर शामिल हैं।

मिसाइलों का इस्तेमाल सऊदी अरब की सीमाओं की रक्षा के लिए

अमेरिकी विदेश विभाग ने कांग्रेस को बिक्री की सूचना देते हुए अपने नोटिस में कहा है कि प्रस्तावित बिक्री से सऊदी अरब के पैट्रियट जीईएम-टी मिसाइलों के घटते स्टॉक की भरपाई करके वर्तमान और भविष्य के खतरों को पूरा करने की क्षमता में सुधार होगा। विभाग ने कहा कि, इन मिसाइलों का इस्तेमाल सऊदी अरब की सीमाओं की रक्षा के लिए है। क्योंकि हौथी लगातार क्रॉस-बॉर्डर मानव रहित हवाई प्रणाली और नागरिक स्थलों पर बैलिस्टिक मिसाइल हमले कर रहे हैं। इनका इस्तेमाल सऊदी अरब में महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे के खिलाफ किया जाता है।

संयुक्त अरब अमीरात के लिए, विभाग ने कहा कि बिक्री "एक महत्वपूर्ण क्षेत्रीय भागीदार की सुरक्षा में सुधार करने में मदद करके संयुक्त राज्य की विदेश नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा का समर्थन करेगी। मध्य पूर्व में राजनीतिक स्थिरता और आर्थिक प्रगति के लिए यूएई एक महत्वपूर्ण अमेरिकी भागीदार है।"

अपने प्रशासन की शुरुआत में बिडेन ने यमन में अपने कार्यों के कारण सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात दोनों को हथियारों की बिक्री में कटौती करने का वचन दिया था।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story