×

US Midterm Elections 2022: अमेरिकी चुनावों में भारतवंशियों का बोलबाला

US Midterm Elections 2022: अमेरिका में हालिया मिड टर्म चुनाव में कई भारतवंशियों का बोलबाला रहा है। भारतीय-अमेरिकी उम्मीदवारों ने एक बार फिर इस चुनाव अपनी बादशाहत दिखाई है।

Neel Mani Lal
Written By Neel Mani Lal
Updated on: 23 Nov 2022 12:55 PM GMT
us elections 2022 indian americans dominate us mid term elections
X

अमेरिकी चुनावों में भारतवंशियों का बोलबाला (Social Media)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

US Midterm Elections 2022 :अमेरिका की राजनीति में भारतीय-अमेरिकी समुदाय के प्रभाव ने पिछले एक दशक में महत्वपूर्ण वृद्धि देखी गई है। देश की सरकार के विभिन्न स्तरों पर भारतीय मूल के नेताओं की हालिया जीत से ये और भी स्पष्ट हो गया है। इत्तेफाक से ज्यादातर भारतवंशी पॉलिटीशियन सत्तारूढ़ डेमोक्रेटिक पार्टी (Democratic Party) से जुड़े हैं।

हाल के मिड टर्म चुनाव (US Mid Term Elections) में डेमोक्रेटिक पार्टी के चार मौजूदा सांसदों ने आरामदायक जीत हासिल की, जबकि एक नई स्टार अरुणा मिलर (Aruna Miller) मैरीलैंड (Maryland) के लेफ्टिनेंट गवर्नर के रूप में उभरीं। भारतीय-अमेरिकी उम्मीदवारों के बीच चार ऐसे थे, जो दोबारा जीत के लिए चुनाव मैदान में थे। उनमें अमी बेरा (Ami Bera), राजा कृष्णमूर्ति (Raja Krishnamurthy), रो खन्ना (Ro Khanna) और प्रमिला जयपाल (Pramila Jaipal) शामिल हैं। ये सभी डेमोक्रेटिक पार्टी के हैं।


अमी बेरा (Ami Bera)

भारतीय कॉकस के सबसे वरिष्ठ सदस्य अमी बेरा ने कैलिफोर्निया के 7वें कांग्रेसनल डिस्ट्रिक्ट से लगातार छठी बार चुनाव जीता है। वह 2013 में अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के लिए चुने जाने वाले पहले भारतीय-अमेरिकी थे।


रो खन्ना और राजा कृष्णमूर्ति (Raja Krishnamurthy and Ro Khanna)

46 वर्षीय रो खन्ना ने कैलिफोर्निया के 17वें कांग्रेसनल डिस्ट्रिक्ट से लगातार चौथी बार चुनाव जीता है। वह एक अन्य भारतीय-अमेरिकी, रिपब्लिकन के. रितेश टंडन के खिलाफ मैदान में थे। वहीं, 49 वर्षीय राजा कृष्णमूर्ति ने भी लगातार चौथी बार सदन में जीत हासिल की। वह 2017 से इलिनॉय के 8वें कांग्रेसनल डिस्ट्रिक्ट का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। उनका जन्म दिल्ली में हुआ था और वह 1973 में अपने माता-पिता के साथ अमेरिका चले गए थे।


प्रमिला जयपाल (Pramila Jaipal)

प्रमिला जयपाल अमेरिकी हाउस के लिए चुनी जाने वाली पहली और एकमात्र भारतीय-अमेरिकी महिला हैं। चेन्नई में जन्मी, प्रमिला ने वाशिंगटन राज्य के 7वें कांग्रेसनल डिस्ट्रिक्ट से सदन में अपना लगातार चौथा कार्यकाल जीता। वह 2016 से इस सीट पर काबिज हैं।


श्री थानेदर

डेमोक्रेट सदस्य और व्यवसायी 67 वर्षीय श्री थानेदर ने मिशिगन के 13वें कांग्रेसनल डिस्ट्रिक्ट से जीत हासिल की है। श्री थानेदर अमेरिकी कांग्रेस के निचले सदन के लिए चुने जाने वाले महाराष्ट्रीयन मूल के पहले सांसद हैं।


अरुणा मिलर (Aruna Miller)

एक अन्य भारतीय-अमेरिकी अरुणा मिलर ने मैरीलैंड राज्य में इस पद के लिए चुनी जाने वाली पहली भारतीय-अमेरिकी बन गईं। मैरीलैंड हाउस ऑफ डेलिगेट्स के पूर्व सदस्य मिलर को डेमोक्रेटिक पार्टी से राज्य के लेफ्टिनेंट गवर्नर के पद के लिए चुना गया है। वह इस पद पर चुनी जाने वाली पहली भारतीय अमेरिकी हैं। इस बार अमेरिकी मध्यावधि चुनाव दक्षिण एशियाई मूल के उम्मीदवारों के लिए भी अच्छा था। विशेषज्ञों का मानना है कि कड़े मुकाबले वाली कुछ रेसों में भारतीय-अमेरिकी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

aman

aman

Next Story