Top

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप का FB Account सस्पेंड, जानें क्या है वजह

Facebook ने पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का अकाउंट दो साल के लिए सस्पेंड कर दिया है। जिस पर ट्रंप ने नाराजगी जताई है।

Network

NetworkNewstrack NetworkShreyaPublished By Shreya

Published on 5 Jun 2021 1:47 AM GMT

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप का FB Account सस्पेंड, जानें क्या है वजह
X

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Donald Trump FB Account Banned: सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक (Facebook) ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के खिलाफ एक बड़ी कार्रवाई की है। फेसबुक ने ट्रंप का अकाउंट संस्पेंड (FB Account Suspend) कर दिया है। कंपनी का कहना है कि ट्रंप के अकाउंट का सस्पेंसन कम से कम दो साल तक रहेगा। फेसबुक का यह फैसला 7 जनवरी 2021 से प्रभावी माना जाएगा। यानी अब ट्रंप साल 2023 तक अपने FB अकाउंट का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे।

दरअसल, फेसबुक ने वॉशिंगटन में इस साल छह जनवरी को संसद परिसर में हुई हिंसा को भड़काने के लिए जनवरी में ट्रंप के अकाउंट को सस्पेंड कर दिया था। फेसबुक के मुताबिक, सात जनवरी के बाद से ट्रंप के अकाउंट का निलंबन कम से कम दो सालों तक जारी रहेगा। इसके साथ ही इस सोशल मीडिया कंपनी ने यह भी बताया है कि वह भविष्य में फेसबुक के नियम तोड़ने वाले नेताओं के साथ किस तरह का बर्ताव करेगा।

(कॉन्सेप्ट फोटो साभार- सोशल मीडिया)

Twiiter भी सस्पेंड कर चुका है अकाउंट

आपको बता दें कि इससे पहले माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर (Twiiter) ने भी अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप का अकाउंट सस्पेंड कर दिया था। ट्विटर ने भी अमेरिकी संसद भवन में ट्रंप के समर्थकों द्वारा की गई हिंसा के बाद पूर्व राष्ट्रपति के पर्सनल अकाउंट को हमेशा के लिए सस्पेंड कर दिया था। कंपनी की तरफ से कहा गया था कि उन्हें इस बात की आशंका है कि ट्रंप हिंसा को और भड़का सकते हैं। मालूम हो कि ट्विटर और फेसबुक दोनों अमेरिकी कंपनियां हैं।

फेसबुक का कहना है कि कैप्टिल में दंगे होने के बाद ट्रंप के अकाउंट को पहली बार सात जनवरी को ब्लॉक किया गया था। फेसबुक की ओर से कहा गया है कि लोगों की सुरक्षा का खतरा कम होने के बाद ही उनके अकाउंट से यह प्रतिबंध हटाया जाएगा। फेसबुक ने कहा है कि वह यह तय करने के लिए विशेषज्ञों के साथ काम करेगा कि ट्रंप को बहाल करने के लिए सार्वजनिक सुरक्षा जोखिम कब कम हुआ।

कब बहाल किया जाएगा अकाउंट

कंपनी के मुताबिक, हिंसा की घटनाओं, शांतिपूर्ण सभा पर प्रतिबंध और नागरिक अशांति जैसी चीजों का मूल्यांकन करने के बाद ही ट्रंप को प्लेटफॉर्म पर बहास किया जाएगा। वहीं, पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने फेसबुक के इस कदम पर नाराजगी जाहिर की है कि और कहा है कि यह उन लोगों का अपमान है जिन्होंने उन्हें 2020 के राष्ट्रपति चुनाव में वोट किया था।

फेसबुक की कार्रवाई पर ट्रंप की टिप्पणी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, फेसबुक के इस कदम पर पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप ने शुक्रवार को कहा कि यह 75 मिलियन अमेरिकी और अन्य लोगों का अनादर है, जिन्होंने उन्हें 2020 में राष्ट्रपति चुनाव में वोट किया था। ट्रंप का कहना है कि फेसबुक को हमें सेंसर करने और चुप कराने के लिए यह सब नहीं करना चाहिए। अंत में हम ही जीतेंगे। हमारा देश और अपमान नहीं सह सकता है। बता दें कि इससे पहले खबरें थीं कि अब पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की फेसबुक पर फिलहाल वापसी होने संभव नहीं है।

वहीं फेसबुक के इस फैसले पर अमेरिका के संसद में 1996 कम्युनिकेशंस डिसेंसी कानून में संशोधन को लेकर काफी बहस हुई। बता दें कि इस कानून के तहत डिजिटल प्लेटफॉर्म कंपनियों को उनके पास उपलब्ध सामग्रियों को रखने और उन्हें आपत्तिजनक मानते हुए कार्रवाई कर उन्हें हटाने का कानूनी संरक्षण मिला है। इस कानून के अनुच्छेद 230 में फेसबुक, टि्वटर और गूगल जैसी कंपनियों को तमाम पावर मिले हैं।

(फोटो साभार- सोशल मीडिया)

क्या है अमेरिकी संसद भवन की घटना

गौरतलब है कि 6 जनवरी 2021 को ट्रंप के हजारों समर्थक अमेरिकी संसद भवन में घुस गए थे। इन सबने संसद के संयुक्त सत्र को रोकने की कोशिश की थी। संवैधानिक प्रक्रिया के तहत उस समय संसद के संयुक्त सत्र में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन की जीत की पुष्टि होनी थी। ट्रंप समर्थकों की पुलिस के साथ झड़प भी हुई। इस घटना में चार लोगों की मौत भी हो गई। जो लोग कैपिटल बिल्डिंग में घुसे थे ट्रंप ने उन्हें ट्विटर पर देशभक्त कहा था।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story