बर्बाद हो जाएगा रूस! सड़क पर बहा हजारों टन डीजल, आफत में लोगों की जान

इस वक्त की बड़ी खबर रूस से आ रही है। यहां एक पावर प्लांट से 20 हजार टन डीजल बाहर फैल गया है। सड़क पर हर तरह तेल ही तेल नजर आ रहा है। इसे देखते हुए राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने साइबेरिया में आपातकाल की घोषणा कर दी है।

नई दिल्ली: इस वक्त की बड़ी खबर रूस से आ रही है। यहां एक पावर प्लांट से 20 हजार टन डीजल बाहर फैल गया है। सड़क पर हर तरह तेल ही तेल नजर आ रहा है। इसे देखते हुए राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने साइबेरिया में आपातकाल की घोषणा कर दी है।

यहां पास में ही एक झील भी है, जो नदी को आपस में कनेक्ट करती है और सीधा आर्केटिक सागर में जाकर मिल जाती है। अब ये ईंधन कहीं अंबार्नया नदी में ना मिल जाए, इसके लिए अवरोधक लगाए गए हैं।

तेल रिसाव की वजह से राष्ट्रपति ने रूस के सबसे बड़े अमीर और कारोबारी पर गुस्सा जाहिर किया है।  आर्कटिक क्षेत्र में बड़े पैमाने पर ईंधन तेल फैलने में लापरवाही के लिए उन्होंने उस कंपनी के मालिक को जिम्मेदार ठहराया और वो सुनिश्चित कर रहे हैं इस रिसाव को नदियों और सागरों में जाने से रोकने की कोशिश में जो भी खर्च होगा वो उस कंपनी से वसूला जाएगा।

बर्बाद हो जाएगा रूस, सऊदी अरब ने उठाया ये बड़ा कदम, पूरी दुनिया पर पड़ेगा असर

कोरोना ने दुनियाभर में मचाई तबाही, अब रूस के राष्ट्रपति पुतिन पर आई बड़ी खबर

राष्ट्रपति पुतिन ने जताई नाराजगी

आर्कटिक क्षेत्र में तेल के रिसाव के लिए राष्ट्रपति पुतिन ने उनकी कंपनी को आड़े हाथों लेते हुए पूछा क्या इस रिसाव की वजह से जो खर्चे बढ़े हैं आप सभी लागतों का भुगतान करेंगे? क्या वह सही है?

गौरतलब है कि रूस की राजधानी मॉस्को से 3000 किमी. दूर नॉरिलस्क में एक प्लांट के पास शुक्रवार को ये रिसाव शुरू हुआ था। देखते ही देखते इसने बड़े संकट का रूप धारण कर लिया।

बुधवार को राष्ट्रपति पुतिन की ओर से इस मामले में आपातकाल की घोषणा की गई थी। उन्होंने इस मामले में जांच के आदेश भी दिए हैं। एक अनुमान के मुताबिक करीब 13 मिलियन डॉलर का नुकसान हो सकता है।

रूस से भारत ला रहा ये नई मिसाइल, 400 किलोमीटर है मारक क्षमता