×

वॉशिंगटन: रक्षा संबंधों को और मजबूत करने के लिए अमेरिकी दूत करेंगे भारत की यात्रा

कूपर 31 मई से दो जून तक ‘शांगरी ला’ वार्ता में शामिल होने के बाद भारत के साथ रक्षा सहयोग एवं शांतिरक्षा पर बात करेंगे जो ट्रम्प प्रशासन की हिंद प्रशांत रणनीति के अनुसार तेजी से बढ़ती अमेरिका-भारत साझेदारी के दो अहम क्षेत्र हैं।

Roshni Khan
Updated on: 30 May 2019 4:08 AM GMT
वॉशिंगटन: रक्षा संबंधों को और मजबूत करने के लिए अमेरिकी दूत करेंगे भारत की यात्रा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

वॉशिंगटन: एक वरिष्ठ अमेरिकी राजनयिक भारत और अमेरिका के बीच द्विपक्षीय रक्षा संबंधों को और मजबूत करने तथा एक ‘‘अहम रक्षा साझेदार’’ के तौर पर नयी दिल्ली की भूमिका को समर्थन देने के लिए अगले सप्ताह भारत की यात्रा करेंगे।

ये भी देंखे:इजराइल में फिर होंगे चुनाव, प्रधानमंत्री नेतन्याहू गठबंधन बनाने में नाकाम

अमेरिकी राजनीतिक-सैन्य मामलों के लिए सहायक विदेश मंत्री क्लार्क कूपर 29 मई से सात जून तक सिंगापुर, भारत और श्रीलंका की यात्रा करेंगे।

कूपर 31 मई से दो जून तक ‘शांगरी ला’ वार्ता में शामिल होने के बाद भारत के साथ रक्षा सहयोग एवं शांतिरक्षा पर बात करेंगे जो ट्रम्प प्रशासन की हिंद प्रशांत रणनीति के अनुसार तेजी से बढ़ती अमेरिका-भारत साझेदारी के दो अहम क्षेत्र हैं।

ये भी देंखे:शपथ ग्रहण से पहले मोदी पहुंचे राजघाट, बापू, वाजपेयी शहीदों को दी श्रद्धांजलि

विदेश मंत्रालय ने बुधवार को कहा, ‘‘अमेरिका-भारत द्विपक्षीय रक्षा व्यापार 2008 में लगभग शून्य था जो आज बढ़कर 15 अरब डॉलर तक पहुंच गया है। वार्ता में एक बड़े रक्षा साझेदार के रूप में भारत की भूमिका को समर्थन देने, सुरक्षा सहयोग को विस्तार देने और अमेरिकी उद्योग के लिए अवसर बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।’’

(भाषा)

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story