×

भीषण गर्मी से बेहाल ये सभी देश, आर्कटिक में चल रही लू तो साइबेरिया में ये हाल

भीषण गर्मी और लू के चलते रूस, कनाडा और अमेरिका में करीब 850 लोगों की मौत हो चुकी है।

Neel Mani Lal

Neel Mani LalWritten By Neel Mani LalShreyaPublished By Shreya

Published on 2 July 2021 5:15 AM GMT

भीषण गर्मी से बेहाल ये सभी देश, आर्कटिक में चल रही लू तो साइबेरिया में ये हाल
X

(कॉन्सेप्ट फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Heatwave: अगर आप सोचते हैं कि भीषण बिलबिलाती गर्मी सिर्फ आपके शहर में पड़ रही है तो आपका सोचना गलत है। आर्कटिक गोलार्ध (Arctic Hemisphere) में गर्म हवाएं (lu) चल रही हैं, साइबेरिया (Siberia) तप रहा है और जंगलों में आग लगी हुई है। ये जानलेवा गर्मी उन देशों में भी पड़ रही है जो ठंडे और बर्फीले कहे जाते हैं। भीषण गर्मी और लू के चलते रूस, कनाडा और अमेरिका में करीब 850 लोगों की मौत हो चुकी है।

उत्तरी अमेरिका में इन दिनों भीषण गर्मी का प्रकोप है। अमेरिका और कनाडा में अभूतपूर्व मौसमी बदलाव देखा जा रहा है। ब्रिटिश कोलम्बिया प्रान्त में भयंकर गर्म हवाएं चल रही हैं जिससे बहुत से लोग अचानक ही गिर कर मर गए।

कनाडा (Canada) के इतिहास में ऐसी गर्मी पहले कभी नहीं पड़ी थी। ये पूरी तरह से हैरान करना वाला है। कनाडा में प्रत्येक दिन पारा बढ़ रहा है। हालत यह है क‍ि पारा 49 ड‍िग्री सेल्सियस को भी पार कर गया है। मारे गए लोगों में ज्‍यादातर बुजुर्ग हैं या उनका स्‍वास्‍थ्‍य खराब चल रहा था। कनाडा में भीषण गर्मी के साथ साथ जंगलों में आग भी व्यापक रूप से फैली हुई है।

उधर अमेरिका का आधे से ज्यादा हिस्सा गर्मी की चपेट में है। अमेरिका में भी द‍िन का तापमान 44 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया जा रहा है। इसे राष्ट्रीय मौसम सेवा विभाग ने तीव्र, लंबा, रेकॉर्ड तोड़ने वाला, अभूतपूर्व, असामान्य और खतरनाक बताया है। ऑरेगोन, पोर्टलैंड, वाशिंगटन आदि शहरों में जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है।

(कॉन्सेप्ट फोटो साभार- सोशल मीडिया)

रूस में चल रही लू

रूस का नाम आते ही एक ठंडे और बर्फीले देश का चित्र मन में आता है। साइबेरिया तो दुनिया के सबसे इलाकों में शुमार है ही। लेकिन बीते दिनों रूस में मौसम ने वो रंग दिखाए हैं जो पहले कभी नहीं देखे गए। बीते दिनों सेंट पीटर्सबर्ग में तापमान 34 डिग्री के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया। 1998 के बाद ये यहां का सर्वाधिक तापमान है।

मास्को में पारा 34.8 डिग्री पर पहुंच गया जो अब तक का रिकॉर्ड है। इसके पहले यहां 34.7 डिग्री तापमान 1901 में दर्ज किया गया था।

दुनिया की सबसे ठंडी जगह

रूस के साइबेरिया क्षेत्र में वरखोयांस्क नामक जगह में पिछले महीने 37 डिग्री तापमान हो गया। जबकि ये जगह आर्कटिक सर्किल के ऊपर की सबसे ठंडी जगह है और यहां 1892 में तापमान माइनस 90 डिग्री तक गिर गया था।

गर्मी (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

पाकिस्तान में आफत

पाकिस्तान का जैकबाबाद शहर इन दिनों भीषण गर्मी के मामले में रिकॉर्ड बना रहा है। यहां पारा 52 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पहुंच गया है। गर्मी का आलम यह है कि लोगों ने घरों से निकलना बंद कर दिया है। शहर की सड़कें सुनसान पड़ी हैं। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जैकबाबाद में जनजीवन अस्त-व्यस्त है, लोग गर्मी से बेहाल हैं। सिंध प्रांत में आने वाले इस शहर में लगभग 200,000 लोग रहते हैं। जैकबाबाद शहर लंबे समय से अपनी भीषण गर्मी के लिए प्रसिद्ध है। आशंका है कि जैकबाबाद का तापमान आने वाले समय में और बढ़ सकता है और सिंध प्रांत के अन्य शहरों में भी ऐसे ही तापमान देखा जा सकता है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story