×

World News: ऐशो-आराम और शादियों के शौकीन हैं इस अफ्रीकी देश के राजा

World News: 2009 में फोर्ब्स पत्रिका ने राजा मस्वाती तृतीय को विश्व के सबसे अमीर 15 राजाओं में से एक बताया था।

Neel Mani Lal
Written By Neel Mani LalPublished By Dharmendra Singh
Updated on: 29 Jun 2021 12:40 PM GMT
King Mswati III
X

मस्वाती तृतीय (फाइल फोटो: सोशल मीडिया) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

World News: अफ्रीका में एस्वातिनी एकमात्र ऐसा देश है जहां राजा का एकछत्र राज चलता है। लेकिन लगता है अब यहां की राजसत्ता खत्म होने वाली है। इसकी वजह एस्वातिनी के राजा का देश छोड़ कर भाग जाना है। बहुत से लोगों ने कभी एस्वातिनी का नाम भी नहीं सुना होगा, सो ये जान लीजिए कि ये अफ्रीका के दक्षिणी हिस्से में स्थित है और पहले इसका नाम स्वाजीलैंड था। 2018 में इसका नाम बदल कर एस्वातिनी कर दिया गया। 1903 से ये देश ब्रिटेन के आधिपत्य में रहा और 6 सितंबर 1968 को इसे आज़ादी मिली। यहां की जनसंख्या करीब 13 लाख है जिनमें अधिकांश गरीबी रेखा से नीचे जी रहे हैं।

बहरहाल, एस्वातिनी के राजा हैं मस्वाती तृतीय जो 18 वर्ष की उम्र में 1986 में गद्दीनशीन हुए थे। वे स्वाज़ी कबीले के हैं जिनका हमेशा से यहां पर राज रहा है। सम्राट मस्वाती तृतीय के देश छोड़ने की वजह एस्वातिनी में लोकतंत्र समर्थकों का आंदोलन है जो बीते दिनों हिंसक हो गया था। पड़ोसी देश साउथ अफ्रीका के मीडिया के अनुसार एस्वातिनी में मतसफा शहर में प्रदर्शनकारियों ने कई दुकानों को आग लगा दी। पुलिस ने यहां भीड़ पर आंसू गैस और पानी की बौछार की। एस्वातिनी में सत्तर के दशक से राजनीतिक दलों पर प्रतिबंध लगा हुआ है। यहां राजा ही संसद को कंट्रोल करते हैं और मंत्रियों की नियुक्ति करते हैं।


ताइवान से रिश्ते
एस्वातिनी अफ्रीका के सबसे छोटे देशों में से एक है। ये ऐसा देश है जिसने चीन के साथ रिश्ते नहीं रखे हैं। ताइवान से राजनयिक संबंध रखने वाला ये अफ्रीका का इकलौता देश है। इस साल जनवरी में सम्राट मस्वाती को कोरोना संक्रमण हो गया था। उन्होंने बाद में बताया कि ताइवान ने उनके इलाज के लिए एन्टीवायरल दवा भेजी थी।
एस्वातिनी में पहले कभी प्रदर्शन या आंदोलन नहीं हुए हैं। लेकिन बीते दिनों अचानक आंदोलन भड़क उठे। इसके चलते सरकार ने प्रदर्शनों पर बैन लगा दिया था और नेशनल पुलिस कमिश्नर ने सख्त चेतावनी दी थी।


विलासी जीवन
एस्वातिनी के 53 वर्षीय राजा बहुत शौकीन मिजाज हैं। उनको अपने लिए दुनिया की सबसे बेहतरीन चीजें खरीदने का शौक है और इसके लिए दिल खोल कर खर्च करते हैं। राजा की 15 बीवियां और 23 बच्चे हैं जबकि उनके पिता की 125 बीवियां थीं। उन पर आरोप है कि जिससे वो शादी करना चाहते हैं उसका अपहरण करवा लेते हैं।
2009 में फोर्ब्स पत्रिका ने राजा मस्वाती तृतीय को विश्व के सबसे अमीर 15 राजाओं में से एक बताया था। वे हर साल सरकारी खजाने से अपने लिए 5 करोड़ डॉलर बतौर वेतन लेते हैं। राजा के पास निजी एयरबस जेट विमान है, बीएमडब्लू और मर्सिडीज की टॉप मॉडल कारें हैं और भव्य महल तथा बंगले हैं।


Dharmendra Singh

Dharmendra Singh

Next Story