×

World Sight Day 2021: 'अपनी आंखों से प्यार करें', कम दृष्टि और अंधेपन के साथ रहते हैं क़रीब 285 मिलियन लोग

World Sight Day 2021: विश्‍व दृष्टि दिवस अक्‍टूबर के दूसरे गुरुवार को मनाया जाता है। इस दिवस का उद्देश्‍य अंधेपन सहित दृष्टि दोष पर वैश्विक ध्‍यान केंद्रित करना है।

Shashwat Mishra

Shashwat MishraReport Shashwat MishraShreyaPublished By Shreya

Published on 14 Oct 2021 2:24 AM GMT

World Sight Day 2021: अपनी आंखों से प्यार करें, कम दृष्टि और अंधेपन के साथ रहते हैं क़रीब 285 मिलियन लोग
X

विश्‍व दृष्टि दिवस (कॉन्सेप्ट फोटो साभार- सोशल मीडिया) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

World Sight Day 2021: "हर व्‍यक्ति अपनी पूरी ज़िंदगी में एक न एक बार नेत्र स्वास्थ्य की समस्या (Aankh Ki Samasya) का शिकार होता ही है। यह भी सच है कि दुनिया भर में एक अरब से अधिक लोगों की नेत्र देखभाल सेवाओं (Eye Care Services) तक पहुंच नहीं है। ऐसे में आवश्‍यक है कि देश और विश्‍व स्‍तर पर नेत्र स्‍वास्‍थ्‍य (Aankho Ka Swasthya) के बारे में लोगों के बीच जागरूकता पैदा की जाये।

इसी के मद्देनजर इस बार 'विश्‍व दृष्टि दिवस 2021' (World Sight Day 2021) की थीम है, लव योर आईज (Love Your Eyes) यानी अपनी आंखों से प्‍यार करें।" यह जानकारी केजीएमयू (KGMU) के नेत्र रोग विभाग की विभागाध्‍यक्ष प्रो अपजित कौर (KGMU Opthalmologist Prof. Apjit Kaur) ने दी।

सांकेतिक फोटो साभार- सोशल मीडिया)

'विश्व दृष्टि दिवस' मनाने का उद्देश्य (Vishwa Drishti Diwas Manane Ka Uddeshya)

प्रो अपजित कौर ने कहा कि विश्‍व दृष्टि दिवस (World Sight Day) अक्‍टूबर के दूसरे गुरुवार को मनाया जाता है। इस दिवस का उद्देश्‍य (Vishwa Drishti Diwas Ka Uddeshya) अंधेपन सहित दृष्टि दोष पर वैश्विक ध्‍यान केंद्रित करना है। यह दिन लोगों में जानकारी देने और जागरूकता पैदा करने के लिए समर्पित है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) इस पहल में सक्रिय रूप से शामिल है। इस दिन विभिन्न गतिविधियों और कार्यक्रमों का समन्वय करता है।

कम आय वाले देशों में रहते हैं 90 फ़ीसद नेत्रहीन लोग

प्रोफेसर कौर ने बताया कि दुनिया भर में लगभग 285 मिलियन लोग कम दृष्टि (Low Vision) और अंधेपन (Blindness) के साथ रहते हैं। इनमें से 39 मिलियन लोग अंधे हैं और 246 मिलियन लोग मध्यम या गंभीर दृष्टि दोष से पीड़ित हैं। 90 फ़ीसद नेत्रहीन लोग कम आय वाले देशों में रहते हैं। इसके बावजूद इनमें 80 फ़ीसद लोग ऐसे हैं, जिन्‍हें आसानी से ठीक किया जा सकता है।

KGMU (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

नेत्र विज्ञान विभाग की ओपीडी में होगा जन जागरूकता कार्यक्रम

गुरुवार को विश्‍व दृष्टि दिवस के मौके पर अंधेपन और दृष्टि हानि के बारे में जन जागरूकता बढ़ाने के लिए एक कार्यक्रम का आयोजन होगा। जिसमें कुलपति ले. जन. (सेवानिवृत्ति) डॉ बिपिन पुरी (KGMU VC Dr. Bipin Puri) मुख्‍य अतिथि होंगे। इस कार्यक्रम को केजीएमयू के नेत्र विज्ञान विभाग (Ophthalmology Department) की ओपीडी (OPD) में विभागाध्‍यक्ष प्रो अपजित कौर की अध्‍यक्षता में किया जाएगा।

अंधेपन की रोकथाम के बारे में शिक्षित करना

कार्यक्रम के बारे में बताते हुए प्रो अपजित कौर ने कहा कि कार्यक्रम का उद्देश्य नेत्र स्वास्थ्य के बारे में जागरूकता फैलाना और लोगों को निवारक नेत्र जांच के लिए प्रोत्साहित करना है। उन्होंने कहा कि विभाग का उद्देश्य आम जनता को अंधेपन की रोकथाम के बारे में शिक्षित करना है। इसका उद्देश्य भविष्य में न केवल आंखों की देखभाल (Aankho Ki Dekhbhal) का दायरा बढ़ाना है, बल्कि गुणवत्तापूर्ण सेवाएं देना भी है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story