शिव को चढ़ाएं ये फूल, मिलेगा वाहन सुख, खुलेगा मोक्ष के द्वार

सत्व, रज व तमो गुणधारी सदाशिव की पूजा से मुक्ति के द्वार खुल जाते है। जिसमें पूरी सृष्टि समाहित है वो भगवान शिव का पूजन यदि पूरी श्रद्धा से किया जाए तो वे जल्द प्रसन्न होते हैं। शिव पूजन में छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखकर हम खुद का और अपने परिवार का कल्याण कर सकते है।शिव को पूष्प भेंट कर भी हम अपने मनोरथ पूर्ण कर सकते हैं।

जानिए... महाशिवरात्रि निर्णय किस दिन मनाएं यह विशेष पर्व

जानिए... महाशिवरात्रि निर्णय किस दिन मनाएं यह विशेष पर्व

जयपुर: सत्व, रज व तमो गुणधारी सदाशिव की पूजा से मुक्ति के द्वार खुल जाते है। जिसमें पूरी सृष्टि समाहित है वो भगवान शिव का पूजन यदि पूरी श्रद्धा से किया जाए तो वे जल्द प्रसन्न होते हैं। शिव पूजन में छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखकर हम खुद का और अपने परिवार का कल्याण कर सकते है।शिव को पूष्प भेंट कर भी हम अपने मनोरथ पूर्ण कर सकते हैं।

जंगलों में ट्रेनों की नई घुसपैठ, 13 रेलवे प्रोजेक्ट्स को मंजूरी

*कहते हैं कि चमेली के फूल चढ़ाने से वाहन सुख मिलता है, जो भक्त वाहन सुख चाहता है, वह चमेली के पुष्प को शिवलिंग पर श्रद्धाभाव से अर्पित करें।
*अलसी के पुष्प से पूजन करने वाला भक्त भगवान विष्णु का भी प्रिय हो जाता है, अर्थात उसे भगवान शिव के साथ ही भगवान विष्णु की कृपा भी प्राप्त होती है।
*राई का फूल चढ़ाने से शत्रु परास्त होते है और बेल पत्र चढ़ाने से मनुष्य की सर्व मनोकामना की पूर्ति होती है।

शराब के ज्यादा दाम वसूले तो अधिकारी व दुकानदार पर होगी कड़ी कार्रवाई
*शमी पत्रों से पूजन करके मनुष्य मोक्ष प्राप्त करता है। मदार के पुष्पों से पूजन करने से नेत्र व हृदय विकार दूर होते हैं।
*धतूरा अगर भगवान शिव को अर्पित किया जाता है तो इससे विषैले जीवों से खतरा नहीं रहता है। *बेला के फूल चढ़ाने से मनचाहा वर या वधु की प्राप्ति होती है। जूही के पुष्प से भगवान का पूजन अर्चन किया जाए तो भक्त के घर में अन्न की कभी कमी नहीं होती है।