आपके रिश्तों में होगी सच्ची गहराई तो इन ग्रहों की नहीं पड़ेगी परछाई, आजमा के देखें

अपने ग्रहों की चाल है। नवग्रहों की चाल मानव को न केवल परेशानी में डालती है, बल्कि कभी की स्थिति विकट भी हो जाती है। आज हम आपको नवग्रहों को शांत करने का ऐसा तरीका बता रहे हैं, जिसमें आपको ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं, जिन्हें कर आप अपने नवग्रहों को आसानी से शांत कर सकते हैं, वह भी बिना रुपये खर्च किए।

Published by suman Published: January 26, 2020 | 9:08 am

जयपुर: अपने ग्रहों की चाल है। नवग्रहों की चाल मानव को न केवल परेशानी में डालती है, बल्कि कभी की स्थिति विकट भी हो जाती है। आज हम आपको नवग्रहों को शांत करने का ऐसा तरीका बता रहे हैं, जिसमें आपको ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं, जिन्हें कर आप अपने नवग्रहों को आसानी से शांत कर सकते हैं, वह भी बिना रुपये खर्च किए।

नवग्रहों की चाल का मानव जीवन पर अनुकूल और प्रतिकूल दोनों ही तरह का असर पड़ता है। यदि ग्रह अनुकूल नहीं है तो मनुष्य परेशानियों से घिर जाता है। उन्होंने बताया कि हर ग्रह का परिवार या संबंधियों से गहरा रिश्ता होता है। यदि हम यहा दिए कुछ उपाय कर लें तो ग्रहों को अपने अनुकूल बना सकते हैं। जानते हैं…

 

यह पढ़ें…कुंडली का योग बनाता है चरित्रहीन, इस कारण बाप-बेटी, भाई-बहन में होते हैं अवैध संबंध

 

*मंगल ग्रह भाई का कारक होता है। यदि यह ग्रह परेशान कर रहा है तो आप अपने बडे भाई की सेवा करें। दूसरे भाईयों से व्यवहार को सुधारें तो मंगल ग्रह आपके अनुकूल हो जाएगा।

*बुद्ध ग्रह मामा, बहन और बुआ का कारक है, यदि यह ग्रह आपके अनुकूल नहीं है तो आप अपने मामा, बहन-दामाद और बुआ की सेवा करें और इनसे मधुर व्यवहार बनाएं।

*गुरु ग्रह को अनुकूल करने के लिए गुरुजनों की सेवा करें। यदि कोई व्यक्ति गुरु दीक्षा नहीं लिए हुए है तो ऐसे व्यक्ति धार्मिक संतों को प्रतिदिन नमन करें।

 

*शुक्र ग्रह को अपने अनुकूल बनाने के लिए स्त्रियों का सम्मान करें। यथा संभव स्त्री की सेवा करें।

*शनि देव श्रमिकों का कारक है। यदि शनि को अपने अनुकूल बनाना है तो श्रमिकों को दान करें और गरीबों की सेवा करें। आप जितना श्रमिक और गरीबों की सेवा करेंगे, शनि उतना ही ज्यादा आपको अनुकूल फल प्रदान करेगा।

*सूर्य देव की कृपा पाने के लिए नियमित रुप से पिता की सेवा करें। यदि पिता नहीं है तो परिवार जो भी व्यक्ति आपके पिता तुल्य है, उनकी सेवा करें।

यह पढ़ें…राशिफल 26 जनवरी: अच्छा या खराब कैसा रहेगा रविवार, जानिए 12 राशियों का हाल

*चंद्रमा की कृपा प्राप्त करने के लिए मां की सेवा करें। मां की सेवा से चंद्रमा अनुकूल प्रदान करने लगता है।

*राहु और केतु की शांति के लिए गाय, बैल को चारा खिलाएं, कुत्ते को रोटी दें, पक्षियों को दाना डाले।