Top

बंगाल की जंग में अब हिंदुत्व का उभार, योगी के जरिए ध्रुवीकरण में जुटी भाजपा

पश्चिम बंगाल की सियासी जंग में हिंदुत्व के मुद्दे को धार देने के लिए ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और भाजपा के फायर ब्रांड नेता योगी आदित्यनाथ की मालदा में सभा का आयोजन किया गया।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 3 March 2021 4:24 AM GMT

बंगाल की जंग में अब हिंदुत्व का उभार, योगी के जरिए ध्रुवीकरण में जुटी भाजपा
X
बंगाल की जंग में अब हिंदुत्व का उभार, योगी के जरिए ध्रुवीकरण में जुटी भाजपा (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अंशुमान तिवारी

नई दिल्ली: पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में हर किसी की नजर पश्चिम बंगाल में होने वाली सियासी जंग पर टिकी हुई है। भाजपा ने पश्चिम बंगाल की जंग को अपनी प्रतिष्ठा की लड़ाई बना दिया है। यही कारण है कि पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को इस बार सत्ता से बेदखल करने के लिए सियासी बिसात पर मजबूत चालें चली जा रही हैं।

ये भी पढ़ें:गोरखपुर में लूटकांडः सर्राफा कारोबारी पर हमला, पिस्टल दिखा 70 लाख सोना छीना

पश्चिम बंगाल की सियासी जंग में हिंदुत्व के मुद्दे को धार देने के लिए ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और भाजपा के फायर ब्रांड नेता योगी आदित्यनाथ की मालदा में सभा का आयोजन किया गया।

हिंदुत्व के मुद्दों को धार देने की कोशिश

मालदा के दौरे के दौरान योगी आदित्यनाथ ने तृणमूल कांग्रेस पर बड़ा हमला करते हुए हिंदुत्व के मुद्दे को और धार देने की कोशिश की। योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर, गो हत्या और लव जिहाद जैसे मुद्दों की चर्चा करके हिंदू मतों को गोलबंद करने की कोशिश की। जानकारों का कहना है कि योगी आदित्यनाथ को इस जंग में उतार कर भाजपा ने ध्रुवीकरण की कोशिश की है।

cm-yogi cm-yogi (PC: social media)

लव जिहाद और गो तस्करी का जिक्र

मालदा की सभा में योगी आदित्यनाथ ने तृणमूल कांग्रेस पर बड़ा हमला करते हुए कहा कि इस राज्य में छल और धोखे से लव जिहाद की घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है। सरकार तुष्टीकरण की नीति पर चल रही है और इसी कारण गो तस्करी की घटनाओं पर रोक नहीं लग पा रही है। जो सरकार अपने प्रदेश के लोगों को सुरक्षा नहीं दे सकती, ऐसी सरकार को हटाने के लिए जनता को आगे आना होगा।

दुर्गा पूजा पर रोक और मोहर्रम को अनुमति

उन्होंने पश्चिम बंगाल को सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की धरती बताया और कहा कि देश को आजादी दिलाने में इस सांस्कृतिक धारा का अहम योगदान था मगर मौजूदा समय में यहां का माहौल काफी दुख पहुंचाने वाला है।

योगी आदित्यनाथ यहीं पर नहीं रुके।

उन्होंने दुर्गा पूजा और मोहर्रम का जिक्र कर लोगों की दुखती रग पर हाथ भी रखा। उन्होंने कहा कि जब दुर्गा पूजा और मोहर्रम की बात आई तो ममता सरकार ने दुर्गा पूजा पर तो रोक लगा दी मगर मोहर्रम के जुलूस को सरकार की ओर से अनुमति दे दी गई।

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल ऐसा प्रदेश है जहां लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ किया जाता है और लोगों को पूजा करने से भी रोका जाता है। ऐसा काम करने वाली सरकार को सत्ता में रहने का हक नहीं है।

24 घंटे में बंद हो जाएगी गो तस्करी

उत्तर प्रदेश में सरकार की ओर से किए गए कामों का उल्लेख करते हुए योगी ने कहा कि 2017 में सत्ता में आने के बाद हमने स्लॉटर हाउसों पर रोक लगा दी। गो तस्करी और गो हत्या पर रोक लगाने के लिए कड़े कदम उठाए गए।

पश्चिम बंगाल में भाजपा की सरकार बनी तो सरकार की ओर से यही कदम उठाए जाएंगे। योगी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में भाजपा की सरकार बनने पर 24 घंटे के भीतर ही गौ तस्करी बंद करवा दी जाएगी।

जयश्री राम पर रोक बर्दाश्त नहीं

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पश्चिम बंगाल में जय श्रीराम के नारे पर भी रोक लगाई जाती है। यहां सरकार चलाने वालों को जयश्री राम का नारा नहीं पसंद है। अयोध्या में भी एक सरकार ने राम भक्तों पर गोली चलाने का काम किया था और उस सरकार का क्या हश्र हुआ, यह सभी ने देखा है।

उन्होंने कहा कि जो राम का द्रोही है, उसका बंगाल में कोई काम नहीं है। यहां सत्ता के संरक्षण में अपराध और आतंकवाद पनप रहा है, लेकिन अब यह सबकुछ ज्यादा दिनों तक नहीं चलने वाला है। दो मई के बाद टीएमसी के गुंडे जान की भीख मांगेंगे और गली में तख्ती लटका कर माफी मांगेंगे।

कश्मीर का मुद्दा भी उछाला

कश्मीर का मुद्दा योगी ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जिक्र करते हुए कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने को मोदी सरकार की बड़ी उपलब्धि बताया। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने आर्टिकल 370 हटाकर श्यामा प्रसाद मुखर्जी के सपनों को पूरा करने का काम किया है। बंगाल श्यामा प्रसाद मुखर्जी की धरती है और इस धरती से इस बार निश्चित रूप से बदलाव का संदेश निकलेगा।

असर दिखा सकता है योगी का तेवर

जानकारों का मानना है कि भाजपा ने काफी सोच समझकर योगी को पश्चिम बंगाल के सियासी अखाड़े में उतारा है। सियासी हलकों में योगी को हिंदुत्व का बड़ा प्रतीक माना जाता है।

cm-yogi cm-yogi (PC: social media)

ये भी पढ़ें:किसान आंदोलन में नए तरीके, ऐसे हो रहा अब विरोध, शाहजहांपुर में हल्लाबोल

ऐसे में योगी की चुनावी रैली से ध्रुवीकरण का बड़ा असर दिख सकता है। मालदा में योगी की चुनावी सभा का आयोजन इसलिए भी किया गया क्योंकि बांग्लादेश से सटे इस जिले में करीब 50 फ़ीसदी मतदाता मुस्लिम हैं। योगी ने अपने चुनावी भाषण में से हिंदुत्व के मुद्दों को और धार देने की कोशिश की है और विधानसभा चुनाव के दौरान योगी का यह तेवर बड़ा असर दिखा सकता है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story