Top

बंगाल में अब शिव बनाम राम! ममता का हिदुत्व कार्ड, शिवरात्रि के दिन करेंगी ये काम

TMC और BJP में जय श्री राम के नारों को लेकर जंग छिड़ी हुई है। एक ओर बीजेपी ममता बनर्जी और उनकी पार्टी को 'राम द्रोही' करार देने में जुटी है तो वहीं टीएमसी का कहना है कि ये सिर्फ चुनावी स्टंट है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 4 March 2021 8:44 AM GMT

बंगाल में अब शिव बनाम राम! ममता का हिदुत्व कार्ड, शिवरात्रि के दिन करेंगी ये काम
X
भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति की शुक्रवार को होने वाली बैठक रद्द हो गई है। यह बैठक आज दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय में होनी थी।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में मार्च के आखिरी हफ्ते से आठ चरणों का विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Elections 2021) शुरू होने वाला है। चुनाव तारीखों के ऐलान के बाद सभी राजनीतिक दलों ने भी चुनाव अभियान को और तेज कर दिया है। टीएमसी और बीजेपी के बीच जोरदार टक्कर के साथ इस चुनाव में हिंदुत्व की लड़ाई भी देखने को मिल रही है।

महाशिवरात्रि पर नामांकन दाखिल करेंगे ममता

एक ओर जहां राज्य में जय श्रीराम के नारे को लेकर विवाद खड़ा हो गया है, तो वहीं अब सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) सॉफ्ट हिंदुत्व की रणनीति अपना रही हैं। माना जा रहा है कि इसी वजह से ममता ने अपने नामांकन के लिए 11 मार्च यानी महाशिवरात्रि (Mahashivratri 2021) के दिन को चुना है। सीएम बनर्जी इस दिन नंदीग्राम से चुनावी बिगुल फूकेंगीं।

यह भी पढ़ें: गांगुली करेंगे भाजपा का बेड़ा पार! पीएम मोदी की रैली से आएगा सियासी भूचाल

mamata banerjee (फोटो- ट्विटर)

इसलिए चुना इस खास दिन को

सीएम ममता के नामांकन दाखिल करने के लिए महाशिवरात्रि के दिन को चुना गया है। बताया जा रहा है कि इसकी खास वहज ये है कि महाशिवरात्रि के पर्व के मौके पर ममता बनर्जी अपनी नामांकन भरकर संदेश देना चाहती हैं कि वह शिव भक्त हैं और अपने जीवन के इतने बड़े काम के लिए इस त्योहार को चुना है। क्योंकि हिंदू धर्म के लोग अपना कोई भी काम पावन दिन ही करते हैं।

नारों को लेकर TMC और BJP में छिड़ी जंग

आपको बता दें कि TMC और BJP में जय श्री राम के नारों को लेकर जंग छिड़ी हुई है। एक ओर बीजेपी ममता बनर्जी और उनकी पार्टी को 'राम द्रोही' करार देने में जुटी है तो वहीं टीएमसी का कहना है कि ये सिर्फ चुनावी स्टंट है। ऐसा माना जा रहा है कि महाशिवरात्रि के मौके पर चुनावी बिगुल फूंक कर ममता बीजेपी के जय श्रीराम नारे के मुकाबले में शिव का नाम खड़ा करने की सोच रही हैं।

यह भी पढ़ें: बंगाल में विस्फोट! टीएमसी विधायक पर हमला, गाड़ी में तोड़फोड़, पार्टी में हड़कंप

mamata-banerjee (फोटो- ट्विटर)

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के 11 मार्च को नंदीग्राम से चुनावी बिगुल फूंकने वाली हैं, जिसके लिए सभी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। नंदीग्राम में अस्थाई आवास और चुनावी कार्यालय का इंतजाम किया गया है। नामांकन दाखिल करने के एक दिन पहले ममता बनर्जी 10 मार्च को पूर्व मिदनापुर के हल्दिया पहुंचेंगी और यहां पर रात में विश्राम से पहले मीटिंग करेंगी। उसके बाद अगले दिन नंदीग्राम जाएंगी।

शुभेंदु अधिकारी ने दी चुनौती

वहीं तृणमूल कांग्रेस से अपना नाता तोड़कर बीजेपी का दामन थामने वाले नेता शुभेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी को चुनौती देते हुए कहा वो ममता को हराएंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी मुझे नंदीग्राम से खड़ा करे या न करे, लेकिन मैं जिम्मेदारी लेता हूं कि ममता को यहां से हराऊंगा।

बंगाल में आठ चरण में होंगे चुनाव

चरण तारीख सीटें

पहले चरण में 27 मार्च को 30 सीटों पर

दूसरे चरण में 1 अप्रैल को 30 सीटों पर

तीसरे चरण में 6 अप्रैल को 31 सीटों पर

चौथे चरण में 10 अप्रैल को 44 सीटों पर

पांचवें चरण में 17 अप्रैल को 45 सीटों पर

छठे चरण में 22 अप्रैल को 43 सीटों पर

सातवें चरण में 26 अप्रैल को 36 सीटों पर

आठवें चरण में 29 अप्रैल को 35 सीटों पर

जिसके बाद चुनाव परिणाम 2 मई को घोषित किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें: ममता को तगड़ा झटका: क्या नेताओं से खाली हो जाएगी TMC, BJP में शामिल हुए 4 नेता

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story