Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

हरियाणा के इस छोरे ने बिहार में पलट दी बाजी, तेजस्वी को सिखाए सियासी दाव-पेंच

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए मतों की गिनती शुरू हो चुकी है। ऐसे में महागठबंधन के सीएम कैंडिडेट तेजस्वी यादव आगे चल रहे है। हर तरफ उनकी ही चर्चा चल रही है। 9 नवंबर को तेजस्वी यादव ने अपना 31वां जन्मदिन मनाया।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 10 Nov 2020 3:57 AM GMT

हरियाणा के इस छोरे ने बिहार में पलट दी बाजी, तेजस्वी को सिखाए सियासी दाव-पेंच
X
तेजस्वी को सिखाया राजनीतिक दांव-पेंच ,हरियाणा का वो चेहरा
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए मतों की गिनती शुरू हो चुकी है। ऐसे में महागठबंधन के सीएम कैंडिडेट तेजस्वी यादव आगे चल रहे है। हर तरफ उनकी ही चर्चा चल रही है। 9 नवंबर को तेजस्वी यादव ने अपना 31वां जन्मदिन मनाया। लोग उन चेहरे के बारे में भी जानना चाहते है जिन्होंने तेजस्वी यादव की राजनीतिक तकदीर बदलने में अहम रोल अदा किया।

तेजस्वी को राजनीतिक दांव-पेंच सिखाया

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की गैरमौजूदगी में तेजस्वी को राजनीतिक दांव-पेंच समझाने में आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह की भूमिका से इनकार नहीं किया जा सकता। इसके अलावा भी एक और चेहरा है जो पर्दे के पीछे रह कर तेजस्वी की हर रणनीति को धरातल पर उतार दिया। तेजस्वी के राजनीतिक सचिव संजय यादव की चर्चा अब शुरू हो गई है।

दिल्ली में हुई मुलाकात

37 साल के संजय यादव हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले के नांगल सिरोही गांव के रहने वाले हैं। ख़बरों की माने तो संजय यादव पिछले एक दशक से से तेजस्वी यादव के साथ हैं। दोनों की मुलाकात 2010 में दिल्ली में हुई थी। तेजस्वी यादव 10 साल पहले आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से अपना किस्मत आजमा रहे थे। तेजस्वी की एक बहन की शादी भी हरियाणा में हुई।

ये भी पढ़ें…धनतेरस 2020: वेदकाल के अश्विनी कुमारों का पर्याय हैं भगवान धन्‍वंतरि

दिल्ली में बैठ कर बिहार चुनाव की तैयारी

इस कोरोना काल में जब जेडीयू और बीजेपी के नेता तेजस्वी को बिहार में धुंध रहे थे तब वे दिल्ली में बैठ कर बिहार चुनाव की तैयारियों को लेकर रणनीति बना रहे थे। उस समय संजय यादव बिहार चुनाव में उठने वाले मुद्दे और स्लोगन पर विचार-विमर्श कर रहे थे।

ये भी पढ़ें…बिहार विधानसभा चुनाव: CCTV से हो रही निगरानी, मतगणना के लिए आयोग तैयार

जहा एक तरफ बीजेपी और जेडीयू के लोग जंगलराज और लालू राज जैसे स्लोगन को ट्रेंड करा रहे थे, उस वक़्त तेजस्वी अपने पक्के इरादे ले कर मौदान में उतरने के लिए तैयार हो रहे थे। तेजस्वी यादव को छोड़ कर लालू यादव, राबड़ी देवी सहित परिवार के किसी भी सदस्य भी सदस्यों को पोस्टर से गायब करना, पीएम मोदी को टारगेट नहीं करना, इस तरह की रणनीति संजय यादव और उनकी टीम ने बनाई थी।

दोस्तो देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Monika

Monika

Next Story