Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

बिहार में बाढ़ और कोरोना: सामने आयी ये जानकारी, जानें क्या है स्थिति

सचिव, सूचना एवं जन-सम्पर्क अनुपम कुमार ने बताया कि कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर सरकार द्वारा नियमित समीक्षा कर समुचित कार्रवाई की जा रही है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 24 Aug 2020 4:37 AM GMT

बिहार में बाढ़ और कोरोना: सामने आयी ये जानकारी, जानें क्या है स्थिति
X
बिहार में बाढ़ और कोरोना
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: सचिव सूचना एवं जन-सम्पर्क अनुपम कुमार, सचिव स्वास्थ्य लोकेश कुमार सिंह, अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय जितेंद्र कुमार, सचिव जल संसाधन संजीव हंस एवं अपर सचिव आपदा प्रबंधन रामचंद्र डू ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं विभिन्न नदियों के जलस्तर को लेकर सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों के संबंध में एक विज्ञप्ति के माध्यम से अद्यतन जानकारी दी।

ये भी पढ़ें: केरल: कांग्रेस विधायक ने पेश किया राज्य सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव

नियमित समीक्षा कर की जा रही समुचित कार्रवाई

सचिव, सूचना एवं जन-सम्पर्क अनुपम कुमार ने बताया कि कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को लेकर सरकार द्वारा नियमित समीक्षा कर समुचित कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने बताया कि कोरोना जांच तेजी से करायी जा रही है और प्रतिदिन एक लाख से ऊपर जांच की जा रही है। कोरोना संक्रमण से स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है और यही कारण है कि रिकवरी रेट बढ़कर 80.60 प्रतिशत हो गया है, जो राष्ट्रीय औसत से लगभग 5.6 प्रतिशत अधिक है। उन्होंने बताया कि रोजगार सृजन पर सरकार का पूरा ध्यान है और लॉकडाउन पीरियड से लेकर अभी तक 5 लाख 58 हजार 732 योजनाओं के अंतर्गत 13 करोड़ 85 लाख से अधिक मानव दिवसों का सृजन किया जा चुका है।

सचिव स्वास्थ्य लोकेश कुमार सिंह ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि कोरोना संक्रमण से पिछले 24 घंटे में 3,082 लोग स्वस्थ हुए हैं और अब तक 98,454 लोग कोविड-19 संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं। बिहार का रिकवरी रेट 80.60 प्रतिशत है। विगत 24 घंटे में कोविड-19 के 2,247 नये मामले सामने आये हैं। वर्तमान में बिहार में कोविड-19 के 23,091 एक्टिव मरीज हैं। उन्होंने बताया कि 22 अगस्त को 1,01,036 सैंपल्स की जांच की गई है और अब तक की गयी कुल जांच की संख्या 24,32,497 है।

अनलॉक-3 के तहत जारी गाइडलाइन्स का कराया जा रहा अनुपालन

अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय जितेन्द्र कुमार ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि सरकार द्वारा 1 अगस्त से लागू अनलॉक-3 के तहत जारी गाइडलाइन्स का अनुपालन कराया जा रहा है। पिछले 24 घंटे में 1 कांड दर्ज किया गया है और किसी व्यक्ति की गिरफ्तारी नहीं हुई है। इस दौरान 774 वाहन जब्त किये गये हैं और 16 लाख 48 हजार 200 रूपये की राशि जुर्माने के रुप में वसूल की गई है। इस प्रकार 1 अगस्त से अब तक 63 कांड दर्ज किये गए हैं और 104 व्यक्तियों की गिरफ्तारी हुई है।

ये भी पढ़ें: कांग्रेस का फैसला: बदलाव की मांग से पार्टी में घमासान, CWC बैठक में होगा ये खास

कुल 15,532 वाहन जब्त किए गए

कुल 15,532 वाहन जब्त किए गए हैं और 4 करोड़ 1 लाख 98 हजार 70 रुपए की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है। उन्होंने बताया कि सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने वाले लोगों पर भी लगातार कार्रवाई की जा रही है। पिछले 24 घंटे में मास्क नहीं पहनने वाले 3,810 व्यक्तियों से 1 लाख 90 हजार 500 रूपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी है। इस प्रकार 1 अगस्त से अब तक मास्क नहीं पहनने वाले 1,14,345 व्यक्तियों से 57 लाख 17 हजार 250 रूपये की जुर्माना राशि वसूल की गयी है। कोविड-19 से निपटने के लिये उठाये जा रहे कदमो और नए दिशा-निर्देशों का पालन करने में अवरोध पैदा करने वालों के खिलाफ सख्ती से कदम उठाये जा रहे हैं।

मुंगेर एवं भागलपुर में जलस्तर स्थिर

सचिव जल संसाधन संजीव हंस ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि गंडक नदी में आज 12 बजे दिन में 1,31,500 क्यूसेक जलश्राव प्रवाहित हुआ है और इसकी प्रवृत्ति बढ़ने की है। गंगा नदी का जलस्तर गांधी घाट, हाथीदह एवं कहलगांव में आज सुबह 6 बजे खतरे के निशान से ऊपर है। विगत 24 घंटे में गंगा नदी के जलस्तर में बक्सर, गाँधी घाट, दीघा, हाथीदह एवं कहलगांव में क्रमशः 24 सेंटीमीटर, 08 सेंटीमीटर, 07 सेंटीमीटर, 12 सेंटीमीटर एवं 01 सेंटीमीटर की वृद्धि हुई है, जबकि मुंगेर एवं भागलपुर में जलस्तर स्थिर है।

कोशी नदी का जलस्तर बलतारा अवस्थित गेज स्थल के पास 35.24 मीटर दर्ज किया गया, जो खतरे के निशान 33.85 मीटर से 1.39 मीटर ऊपर है। सोन नदी में आज 12 बजे दिन में 61,229 क्यूसेक जलश्राव प्रवाहित हुआ है और इसकी प्रवृत्ति घटने की है। बागमती नदी का जलस्तर कटौझा, बेनीबाद एवं हायाघाट गेज स्थलों पर खतरे के निशान से ऊपर है, जबकि ढेंग, सोनाखान, डूब्बाधार एवं कनसार/चंदौली गेज स्थलों पर जलस्तर खतरे के निशान से नीचे है। कमला बलान नदी का जलस्तर जयनगर वीयर के डाउनस्ट्रीम एवं झंझारपुर रेल पुल के पास खतरे के निशान से क्रमशः 0.45 मीटर एवं 0.55 मीटर नीचे है।

ये भी पढ़ें: कांग्रेस का फैसला: बदलाव की मांग से पार्टी में घमासान, CWC बैठक में होगा ये खास

ये नदियां खतरे के निशान से 0.49 मीटर ऊपर

महानंदा नदी का जलस्तर तैयबपुर एवं ढेंगराघाट गेज स्थल पर खतरे के निशान से 1.72 मी0 एवं 1.36 मी0 नीचे है। अधवारा नदी का जलस्तर सोनवर्षा, सुंदरपुर एवं पुपरी गेज स्थल पर खतरे के निशान से नीचे है। बूढ़ी गंडक नदी का जलस्तर समस्तीपुर रेल पुल, रोसरा रेल पुल एवं खगड़िया में खतरे के निशान से ऊपर है। घाघरा नदी का जलस्तर दरौली एवं गंगपुर सिसवन में खतरे के निशान से 0.45 मीटर एवं 0.49 मीटर ऊपर है।

विज्ञप्ति के अनुसार मुख्य अभियंता गोपालगंज परिक्षेत्राधीन सारण तटबंध सारण, भैसही पुरैना छरकी, बंधौली शीतलपुर फैजुल्लाहपुर जमींदारी बांध एवं बैकुंठपुर रिटायर्ड लाईन तथा मुख्य अभियंता, मुजफ्फरपुर परिक्षेत्राधीन चंपारण तटबंध के क्षतिग्रस्त भाग को छोड़कर शेष राज्य में विभिन्न नदियों पर अवस्थित तटबंध सुरक्षित हैं। जल संसाधन विभाग द्वारा सतत् निगरानी एवं चैकसी बरती जा रही है।

आपदा प्रबंधन विभाग पूरी तरह से सतर्क

अपर सचिव आपदा प्रबंधन रामचंद्र डू ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया कि बिहार की विभिन्न नदियों के बढ़े जलस्तर को देखते हुए आपदा प्रबंधन विभाग पूरी तरह से सतर्क है। नदियों के बढ़े जलस्तर से बिहार के 16 जिलों के कुल 130 प्रखंडों की 1,333 पंचायतें प्रभावित हुई हैं, जहाँ आवश्यकतानुसार राहत शिविर चलाए जा रहे हैं। खगड़िया में 01 और समस्तीपुर में 05 राहत शिविर चलाए जा रहे हैं। इन सभी 6 राहत शिविरों में कुल 5,186 लोग आवासित हैं। 219 कम्युनिटी किचेन चलाए जा रहे हैं, जिनमें प्रतिदिन 1,78,551 लोग भोजन कर रहे हैं। सभी बाढ़ प्रभावित जिलों में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें राहत एवं बचाव का कार्य कर रही हैं और अब तक प्रभावित इलाकों से एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और बोट्स के माध्यम से 5,50,792 लोगों को निष्क्रमित किया गया है।

बाढ़ प्रभावित 9,62,617 परिवारो को जीआर की राशि 6,000 रूपये की दर से कुल 577.57 करोड़ रूपये का भुगतान उनके बैंक खाते में किया जा चुका है। ऐसे परिवारों को एसएमएस के माध्यम से सूचित भी किया गया है। आपदा प्रबंधन विभाग संपूर्ण स्थिति पर लगातार निगरानी रख रहा है।

ये भी पढ़ें: बड़ी खबर: राहुल नहीं बनना चाहते अध्यक्ष, इनको दी जा सकती है कांग्रेस की कमान

Newstrack

Newstrack

Next Story