Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

बिहार पर बोलीं मायावती: जनता से की ये अपील, अब चुनना होगा नया विकल्प

बसपा सुप्रीमों ने कहा कि पहले की सरकारें गरीबी, बेरोजगारी और आरक्षण सहित सभी मुद्दों पर विफल रही हैं। उन्होंने यूपी में अपनी 2007 की सरकार का उदाहरण देते हुए कहा कि अगर बिहार में उनके फ्रंट की सरकार बनती है

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 23 Oct 2020 1:37 PM GMT

बिहार पर बोलीं मायावती: जनता से की ये अपील, अब चुनना होगा नया विकल्प
X
बिहार पर बोलीं मायावती: जनता से की ये अपील, अब चुनना होगा नया विकल्प (Photo by social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार उपचनुाव में ग्रैंड युनाइटेड सेक्युलर फ्रंट के प्रत्याशियों के समर्थन में जनसभा करने कैमूर जिलें में भभुआ के हवाई अड्डे मैदान पर पहुंची बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने मतदाताओें से नए विकल्प चुनने की अपील करते हुए कहा कि बिहार में चुनाव प्रचार में हर कोई लाखों रोजगार देने के खोखलें वादे कर रहा है लेकिन तीन बार राष्ट्रीय जनता दल और तीन बार राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन केे सत्ता में रहने के बावजूद बिहार में बेरोजगारी कम नहीं हुई।

ये भी पढ़ें:भूकंप से हिला देश: घरों से बाहर निकले डरे-सहमे लोग, इतनी रही तीव्रता

पहले की सरकारें गरीबी, बेरोजगारी और आरक्षण सहित सभी मुद्दों पर विफल रही हैं

बसपा सुप्रीमों ने कहा कि पहले की सरकारें गरीबी, बेरोजगारी और आरक्षण सहित सभी मुद्दों पर विफल रही हैं। उन्होंने यूपी में अपनी 2007 की सरकार का उदाहरण देते हुए कहा कि अगर बिहार में उनके फ्रंट की सरकार बनती है तो बिहार में भी यूपी की तरह ही सरकार चलेगी। जिसमे हर तबके का विकास होगा और सबको सम्मान दिया जाएगा। उन्होंने जनता से अपील की कि विरोधियों के झांसे में न आएं, नया विकल्प चुने।

भभुआ की जनसभा में मौजूद रालोसपा के मुखिया उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा

भभुआ की जनसभा में मौजूद रालोसपा के मुखिया उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि बिहार के लिए एनडीए और महागठबंधन सबसे बड़ा खतरा है। इन दोनों ने ही बिहार में 30 साल तक राज किया लेकिन इस दौरान बिहार की बाढ़, बेरोजगारी, शिक्षा और स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं लगातार बढ़ती रही। उन्होंने एनडीए और महागठबंधन को बिहार की बदहाली के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए अपील की कि इनको उखाड़ फेंकने का समय आ गया है।

ये भी पढ़ें:मिसाल बनी राजस्थानी बेटी: कम उम्र में पाई सफलता, US में कमाती है लाखों

कुशवाहा ने कहा कि अगर चुनाव में उनके फ्रंट को मौका मिला तो विकास के साथ-साथ शिक्षा वाली सरकार होगी। केंद्र और राज्य की गलत नीतियों के कारण किसानों की स्थिति बिगड़ती जा रही है। उन्होंने कहा कि नीतीश की सरकार व महागठबंधन में कोई अंतर नहीं है। रालोसपा प्रमुख ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भ्रष्टाचारी बताते हुए उन्हें सत्ता से उखाड़ फेंकने का आह्वान किया। उन्होंने तेजस्वी यादव पर भी निशाना साधा और जिस की खुद की शिक्षा निम्न स्तर की हो वह शिक्षा में क्या सुधार लाएगा।

मनीष श्रीवास्तव

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story