Top

मिसाल बनी राजस्थानी बेटी: कम उम्र में पाई सफलता, US में कमाती है लाखों

राजस्थान के सीकर जिले के एक छोटे से गांव किरडोली की रहने वाली कंचन शेखावत ने बेहद ही कम उम्र में अपने सपनों को पूरा किया और आज उनका सालाना पैकेज 1.70 करोड़ रुपये है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 23 Oct 2020 12:41 PM GMT

मिसाल बनी राजस्थानी बेटी: कम उम्र में पाई सफलता, US में कमाती है लाखों
X
राजस्थान की बेटी ने किया कमाल
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जयपुर: आज की 21वीं शताब्दी में ऐसा कोई भी क्षेत्र नहीं है जहां पर लड़कियों ने अपनी पहचान ना बनाई हो। लड़कियां देश हो या विदेश हर जगह अपनी सफलता के झंडे गाड़ रही हैं। इसी कड़ी में आज हम आपको एक ऐसी बेटी की सफलता की कहानी बताने जा रहे हैं, जो आज अमेरिका में एक सॉफ्टवेयर कंपनी में सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर पद पर कार्यरत है और उसका सालाना पैकेज 1.70 करोड़ रुपये है। हम बात कर रहे हैं कि राजस्थान के सीकर जिले के एक छोटे से गांव किरडोली की रहने वाली कंचन शेखावत की।

बेहद कम उम्र में पूरा किया अपना सपना

कंगना ने बेहद कम उम्र में ही अपने सपने को पूरा कर लिया है। कंचन का कहना है कि उन्हें स्कूल के शुरूआती दिनों में ही पढ़ाई का महत्व पता चल गया था। वहीं कंचन ने 10वीं क्लास में यह ठान लिया था कि उसे इंजीनियर बनना है। अपने इस सपने को पूरा करने के लिए कंचन ने कड़ी मेहनत की। उनकी इसी दृढ़ संकल्प और कड़ी मेहनत का ही नतीजा है कि आज सफलता उनके कदमों में है।

यह भी पढ़ें: मिशन नारी शक्ति पर योगी का जोरः अकबरपुर कोतवाली में शुरू, कानपुर जोन की पहली महिला डेस्क

साधारण बैकग्राउंड वाले परिवार से रखती हैं ताल्लुक

बता दें कि कंचन एक साधारण बैकग्रांउड वाले से परिवार से नाता रखती हैं। उनके पिता भंवर सिंह शेखावत पहले प्लास्टिक फैक्ट्ररी में ठेकेदार थे और अब वो खेती का काम करते हैं। वहीं उनकी मां चांद कंवर हाउस वाइफ हैं। वहीं कंचन की बड़ी बहन भी हैं और वो भी हाउस वाइफ हैं। वहीं उनके छोटे भाई धर्मेंद्र अभी कॉम्पटेटिव एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं।

मिजोरम से हासिल की बीटेक की डिग्री

कंचन की पढ़ाई की बात की जाए तो उन्होंने वडोदरा से अपनी प्राथमिक पढ़ाई गुजराती मीडियम से की है। फिर सीकर में हिंदी मीडियम से 8वीं से लेकर 12वीं तक की पढ़ाई की। उसके बाद उन्होंने मिजोरम से बीटेक की डिग्री ली। वहीं कंचन अपनी सफलता का श्रेय अपने परिजनों और टीचर्स को देती हैं। कंचन का कहना है कि उनके सहयोग के बिना वो ये लक्ष्य हासिल नहीं कर सकती थी।

यह भी पढ़ें: भारी बारिश का अलर्ट: अचानक बदलेगा मौसम, इन राज्यों में ताबड़तोड़ गिरेगा पानी

अमेजॉन में हैं सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर

कंचन का कहना है कि ये जॉब उनके लिये सीखने का एक बेहतरीन अवसर है। बता दें कि वो अभी US में सॉफ्टवेयर कंपनी अमेजॉन में सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर कार्यरत हैं और उनका सालाना पैकेज 1.70 करोड़ रुपये का है। वहीं इससे पहले भी कंचन ने जॉब्स की हैं। इससे पहले कंचन को 7, 8 और 40 लाख के ऑफर मिले। उनका कहना है कि उन्होंने हर जॉब को पूरी लगन के साथ किया है।

कंचन का कहना है कि सपना देखो और उसे पूरा करने के लिए पूरी जी जान लगा दो।

यह भी पढ़ें: संतान के लिए दुआ पढ़ने के बहाने औरतों के कपड़े उतरवाता था ये बाबा, पुलिस ने दबोचा

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story