Top

गैंगरेप का आरोप निकला झूठा, बक्सर कांड में पुलिस ने किया चौंकाने वाला खुलासा

बक्सर जिले की पुलिस ने जांच में कथित पीड़िता और उसके परिवार की तरफ से लगाये गये गैंगरेप समेत अन्य आरोपों को गलत पाया है। जांच में ये बात पता चली है कि ओझा बरांव नहर के पास महिला का उसके प्रेमी चुलबुल से किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई थी। जिसके चलते उसके प्रेमी ने महिला और उसके बेटे को नदी में फेंक दिया था।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 15 Oct 2020 7:11 AM GMT

गैंगरेप का आरोप निकला झूठा, बक्सर कांड में पुलिस ने किया चौंकाने वाला खुलासा
X
पुलिस ने जब जांच शुरू की तो पता चला कि राजपुर थाने के ओरा निवासी चुलबुल राजभर से उसके प्रेम संबंध हैं। गांव में रिश्तेदारी होने के कारण वह आया करता था।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोपालगंज: बक्सर जिले की पुलिस ने गैंगरेप का झूठा आरोप लगाकर युवकों को फंसाने की साजिश का खुलासा कर दिया है। मेडिकल रिपोर्ट में पता चला है कि महिला के साथ गैंगरेप नहीं हुआ था। उसने खुद ये बाद मानी है कि वह अपनी मर्जी से अपने प्रेमी के साथ भागकर गई थी।

उसने झूठी कहानी बनाकर अपने 5 साल के बच्चे को नदी में फेंककर उसकी हत्या कर दी थी। हत्या और गैंगरेप का झूठा आरोप 5 युवकों पर लगाकर उनके खिलाफ फर्जी मुकदमा लिखवा दिया था।

जिसके बाद से पुलिस ने एक कथित आरोपी को इस केस में जेल में भी बंद कर दिया था। गैंगरेप की सच्चाई सामने आने के बाद से लोगों में दहशत हैं। इसको लेकर अब तमाम तरह के सवाल भी उठने लगे हैं।

Gangrape गैंगरेप की प्रतीकात्मक फोटो(सोशल मीडिया)

ये भी देखें: मोदी सरकार का एक्शन प्लान, अर्थव्यवस्था को बढ़ाने के लिए किए बड़े ऐलान

कथित पीड़िता ने 5 लोगों पर किया था केस

बता दें कि कुछ दिनों पहले बक्सर जिले के ओझा बराव गांव में एक महिला और उसके परिजनों की तरफ से 5 युवकों के खिलाफ थाने में गैंगरेप और 5 साल के बच्चे की हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया था।

पुलिस ने इस केस की जांच करने के बाद चौंकाने वाला खुलासा किया है। पुलिस ने अपहरण और फिर गैंगरेप के आरोप को जांच में सही नहीं पाया है। पुलिस ने इस घटना के पीछे की कहानी प्रेम प्रसंग को माना है।

पुलिस द्वारा महिला की मेडिकल जांच कराई गई, जिसमें पुष्टि हो चुकी है, कि महिला के साथ गैंगरेप नहीं हुआ था। इसके बाद पुलिस पूछताछ और जांच में कई राज खुले।

जिसमें पता चला कि महिला का अपहरण नहीं किया गया था, बल्कि वह अपनी मर्जी से प्रेमी के साथ उसके बहनोई के घर गई थी। वहां पूरे दिन रुकी भी। उससे आगे की पूछताछ की जा रही है।

Arrest जेल में बंद कैदी की फोटो(सोशल मीडिया)

क्या है ये मामला

बक्सर जिले के ओझा बराव गांव में पहले एक महिला की तरफ से कहा गया था कि बैंक जाते समय उसे किडनैप कर लिया गया था। सुनसान स्थान पर ले जाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया।

उसके बाद उसके पांच वर्ष के बेटे के साथ उसे नदी में मरने के लिए फेंक दिया। इस दौरान उसके बच्चे की मौत हो गई थी। जिसके बाद महिला के बयान पर पुलिस ने भीम यादव और मीना राम के अलावा तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया था।

वहीं इस केस में मीना राम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था, लेकिन पुलिस ने जब जांच शुरू की, तो ये तमाम आरोप झूठे पाए गये।

ये भी देखें: पाकिस्तान में दहशत, एयरफोर्स चीफ बोले- राफेल से जल्द हमला कर सकता है भारत

कैसे उठा राज से पर्दा

पुलिस ने जब मामले में जांच शुरू की तो सच्चाई धीरे-धीरे बाहर आने लगी। शुरूआती जांच में मालूम हुआ कि 10 अक्टूबर को महिला के मोबाइल की लोकेशन राजपुर थाने सोनपा गांव में थी।

जब महिला की कॉल डिटेल निकाली गई तो पता चला कि एक नंबर पर उसकी लंबी बात पहले से ही होती चली आ रही थी।

पुलिस ने जब जांच का दौरा आगे बढ़ाया तो सच्चाई बाहर आ गई। मालूम हुआ कि राजपुर थाने के ओरा निवासी चुलबुल राजभर से उसके प्रेम संबंध हैं। महिला के गांव में रिश्तेदारी होने के कारण चुलबुल वहां पर आता जाता रहता था। इसी बीच दोनों में प्रेम हो गया।

पुलिस ने बताया कि घटना के दिन चुलबुल अपने गांव के ही दोस्त रवि के साथ ओझा बरांव पहुंचा था। इस दौरान महिला भी अपने पांच वर्षीय बेटे के साथ घर से निकल आई।

सड़क पर महिला की मुलाकात पहले से इंतजार कर रहे प्रेमी से हो गई। यहां से वह अपने प्रेमी के साथ उसके बहनोई के घर सोनपा चले गए।

उस दिन चुलबुल ने उसे अपने बहनोई के घर दिनभर रखा और रात के वक्त उसके पिता की तबीयत बिगड़ने का बहाना बनाकर घर के लौट जाने के लिए गाड़ी से भिजवा दिया। महिला के साथ चुलबुल रवि और राधेश्याम भी ऑटो से ओझा बरांव गये थे।

दोनों के बीच हुआ था झगड़ा

जांच में ये भी पाया गया है ओझा बरांव नहर के पास महिला का उसके प्रेमी चुलबुल से किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई थी। पुलिस के मुताबिक कहासुनी के चलते उसके प्रेमी ने महिला और उसके बेटे को नदी में फेंक दिया।

लेकिन अभी ये बात कन्फर्म नहीं हो पाई है। एसपी नीरज कुमार ने बताया कि महिला से अभी पूछताछ की जा रही है। उसके बाद ही कुछ भी बोलना उचित रहेगा।

ये भी देखें: पावर ग्रिड किसे कहते हैं, ये कब फेल होता है, इससे कैसे बचा जा सकता है, यहां जानें

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें – Newstrack App

Newstrack

Newstrack

Next Story