बिहार: विधानसभा सत्र की हंगामेदार शुरुआत, ‘हिन्दुस्तान’ शब्द पर छिड़ी बहस

विधानसभा सत्र के पहले ही दिन AIMIM के विधायक अख्तरुल इमान ने शपथ लेते वक्त आपत्ति दर्ज कराया। उन्होंने शपथ पत्र में लिखे ‘हिन्दुस्तान’ शब्द को बोलने से मना कर दिया और उसकी जगह ‘भारत’ का इस्तेमाल किया।

Published by Aditya Mishra Published: November 23, 2020 | 1:31 pm
Modified: November 23, 2020 | 1:49 pm
Bihar

बिहार: विधानसभा सत्र की हंगामेदार शुरुआत, ‘हिन्दुस्तान’ शब्द पर छिड़ी बहस( फोटो:सोशल मीडिया)

पटना: बिहार में आज से नई विधानसभा के सत्र की शुरूआत हो गई है। चुनाव में एनडीए की जीत और नीतीश कुमार के फिर से मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही राजद-जदयू में जुबानी जंग छिड़ गई है।

आज सत्र के पहले दिन सभी नए विधायकों ने शपथ ली। सीएम नीतीश कुमार ने प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी से मुलाकात की। प्रोटेम स्पीकर ही नए विधायकों को शपथ दिलाता है।

ये भी पढ़ें…बेटी का ऐसा बदला: पिता को देख कांप उठा बलात्कारी, दी ऐसी खौफनाक सजा

AIMIM विधायक के शपथ के दौरान हंगामा

विधानसभा सत्र के पहले ही दिन AIMIM के विधायक अख्तरुल इमान ने शपथ लेते वक्त आपत्ति दर्ज कराया। उन्होंने शपथ पत्र में लिखे ‘हिन्दुस्तान’ शब्द को बोलने से मना कर दिया और उसकी जगह ‘भारत’ का इस्तेमाल किया।

बताते चलें कि AIMIM के विधायक अख्तरुल इमान का नाम जैसे ही सदस्यता की शपथ के लिए पुकारा गया वैसे ही उन्होंने खड़े होकर हिन्दुस्तान शब्द पर एतराज जताया।

उर्दू भाषा में अख्तरुल इमान को आज शपथ लेनी थी लेकिन उर्दू में भारत की जगह हिन्दुस्तान शब्द के इस्तेमाल पर उन्होंने आपत्ति जताते हुए प्रोटेम स्पीकर से भारत शब्द का इस्तेमाल करने को कहा।

Bihar
बिहार: विधानसभा सत्र की हंगामेदार शुरुआत, ‘हिन्दुस्तान’ शब्द पर छिड़ी बहस( फोटो:सोशल मीडिया)

ये भी पढ़ें…फिर लॉकडाउन की तैयारी: सरकार करेगी बड़ा ऐलान, जल्द लिया जायेगा फैसला

एआईएमआईएम के विधायक ने कहा कि हिंदी भाषा में भारत के संविधान की शपथ ली जाती है। मैथिली में भी हिन्दुस्तान की जगह भारत शब्द का ही इस्तेमाल किया जाता है लेकिन उर्दू में जो शपथ लेने के लिए जो पत्र मुहैया कराया गया है उसमें भारत की जगह हिन्दुस्तान शब्द का इस्तेमाल किया गया है।  विधायक ने कहा कि वह भारत के संविधान की शपथ लेना चाहते हैं ना कि हिन्दुस्तान की संविधान की।

पांच भाषाओं में शपथ लेने का विकल्प

निर्वाचित सदस्यों को पांच भाषाओं हिन्दी, अंग्रेजी, मैथिली, उर्दू और संस्कृत में से किसी भी एक भाषा में शपथ लेने की छूट रहेगी। विस सचिवालय ने सभी पांच भाषाओं में शपथ के लिए स्क्रिप्ट तैयार कराया है।

जानकारी के मुताबिक हिन्दी और मैथिली के स्क्रिप्ट की अधिक मांग है। शपथ के बाद सदस्य अध्यक्ष से हाथ नहीं मिला सकेंगे, बल्कि हाथ जोड़ अभिभावन कर आगे बढ़ जाएंगे।

Bihar
बिहार: विधानसभा सत्र की हंगामेदार शुरुआत, ‘हिन्दुस्तान’ शब्द पर छिड़ी बहस( फोटो:सोशल मीडिया)

25 को होगा अध्यक्ष का चुनाव

तय कार्यक्रम के मुताबिक 23 और 24 नवम्बर को नवनिर्वाचित सदस्यों द्वारा शपथ लिया जाएगा। 25 को विस की प्रक्रिया एवं कार्य संचालन नियमावली के नियम 9(1) के तहत अध्यक्ष का निर्वाचन होगा।

26 को सेंट्रल हॉल में ही राज्यपाल विधानमंडल के समवेत बैठक को संबोधित करेंगे। सत्र के आखिरी दिन 27 को राज्यपाल के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर वाद विवाद एवं सरकार का उत्तर होगा।

इसी दिन सरकार के (वर्ग-5) विभागों ऊर्जा, आपदा, स्वास्थ्य, पर्यटन, योजना विकास पर सवाल-जवाब तथा सरकार द्वारा अनुपरक बजट भी पेश किया जाएगा।

ये भी पढ़ें…LOC पर खतरनाक चीज: आसमान पर खूनी साजिश, सेना हाई अलर्ट पर

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App