Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

बिहार में मिलेगी शराब! बंदी कानून हो सकता है खत्म, कांग्रेस ने दिए संकेत

बिहार में शराबबंदी कानून लागू है। जिसे लेकर सीएम नितीश कुमार गंभीरता जाता रहे हैं। लेकिन इस कानून को खत्म करने और इसकी बिक्री चालू करने को लेकर मांग तेज़ कर दी है। मंगलवार को कांग्रेस के दो बड़े नेताओं ने नितीश कुमार से यह मांग की है।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 16 Dec 2020 5:02 AM GMT

बिहार में मिलेगी शराब! बंदी कानून हो सकता है खत्म, कांग्रेस ने दिए संकेत
X
कांग्रेस के नेताओं ने नितीश कुमार को लिखा पत्र, कही शराबबंदी कानून खत्म करने की बात
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बिहार में शराबबंदी कानून लागू है। जिसे लेकर सीएम नितीश कुमार गंभीरता जाता रहे हैं। लेकिन इस कानून को खत्म करने और इसकी बिक्री चालू करने को लेकर मांग तेज़ कर दी है। मंगलवार को कांग्रेस के दो बड़े नेताओं ने नितीश कुमार से यह मांग की है।

कांग्रेस नेताओं ने उठाई मांग

कांग्रेस के विधायक अजीत शर्मा द्वारा बिहार में शराबबंदी कानून खत्म करने की मांग का सांसद अखिलेश सिंह ने भी समर्थन किया। उन्होंने कहा कि आक बिहार में कहां नहीं शराब बिक रही है। बिहार में शराबबंदी कानून के कारण राजस्व की काफी क्षति भी हो रही है। अखिलेश सिंह ने आगे कहा कि अजीत शर्मा ने इसी परिपेक्ष्य में शराबबंदी कानून को खत्म करने की मांग रखी है।

सालों से लागू कानून

इससे पहले भागलपुर के कांग्रेस विधायक अजीत शर्मा ने भी सीएम नीतीश कुमार को पत्र लिख कर इस कानून को खत्म करने की मांग की थी। उन्होंने इस पत्र में लिखा कि बिहार में 2016 से शराबबंदी कानून लागू है। उस वक्त कांग्रेस पार्टी भी आपके साथ थी। तब पार्टी ने अच्छा काम समझकर आपका भरपूर समर्थन किया था, लेकिन साढ़े 4 वर्षों में देखने में आया कि शराबबंदी सिर्फ कहने को है, हकीकत में ये बिहार में लागू ही नहीं है। बल्कि यह अवैध धन अर्जन का एक साधन हो गया है।

ये भी पढ़ें- बिहार में बटेंगे 50-50 हजार: ग्रेजुएट्स के लिए तोहफा, सरकार का वादा होगा पूरा

शराब की हो रही होम डिलीवरी

कांग्रेस के मुताबिक भले बिहार में शराब की बिकली बंद हो, दुकानों में शराब ना मिल रहे हो लेकिन यह सीधे घर-घर तक पहुंचती है। शराबबंदी कानून लागू होने के बाद भी शराब की होम डिलीवरी हो रही है। इस धंधे में ना सिर्फ शराब माफिया बल्कि पुलिस-प्रशासन, नौकरशाह और कुछ राजनीतिज्ञ भी शामिल हैं। इस धंधे में नई उम्र के लड़के- लड़कियां भी पढ़ाई छोड़कर होम डिलीवरी में लग गये हैं। अधिक कीमतों में लोग शराब खरीद कर पी रहे हैं। जिसके चलते नकली वह जेहरीली शराब की अनदेखे लोग पी रहे हैं। इसके चलते दर्जनों मौत हो रही है।

ये भी पढ़ें: नीतीश के चुनावी वादे पूरे: फ्री वैक्सीन, 20 लाख नौकरी को बिहार कैबिनेट से मंजूरी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Monika

Monika

Next Story